न्यूज़ीलैंड की टीम को ख़िताब

न्यूज़ीलैंड का खिलाड़ी (फोटो: साभार वर्ल्ड हॉकी की वेबसाइट)
Image caption न्यूज़ीलैंड की टीम ने दूसरे हाफ़ में शानदार खेल दिखाया

न्यूज़ीलैंड की टीम ने चैम्पियंस चैलेंज हॉकी प्रतियोगिता का ख़िताब जीत लिया है. फ़ाइनल में उसने पाकिस्तान को 4-2 से मात दी.

इस ख़िताबी जीत के साथ ही न्यूज़ीलैंड को अगले साल जर्मनी में होने वाली चैम्पियंस ट्रॉफ़ी हॉकी में सीधे प्रवेश मिल गया है.

भारत ने मेज़बान अर्जेंटीना को 3-2 से हराकर कांस्य पदक हासिल किया. भारत की टीम सेमी फ़ाइनल में पाकिस्तान से हार गई थी.

फ़ाइनल मैच में न्यूज़ीलैंड ने बेहतरीन हॉकी का प्रदर्शन किया. लेकिन पाकिस्तान ने भी अच्छा जवाब दिया. हाफ़ टाइम तक दोनों टीमें 2-2 गोल से बराबर थी.

न्यूज़ीलैंड की ओर से ये गोल रयान आर्किबाल्ड और कप्तान फ़िलिप बरोज़ ने किए. जबकि पाकिस्तान की ओर से सोहेल अब्बास और रेहान बट ने स्कोर किया.

मैच

दूसरा हाफ़ पूरी तरह न्यूज़ीलैंड का था. 65वें मिनट में स्टीवन एडवर्ड्स ने गोल किया और एक मिनट बाद ही कप्तान बरोज़ ने एक और गोल करके स्कोर 4-2 कर दिया.

पाकिस्तान को भी गोल करने के कई मौक़े मिले लेकिन टीम उसका फ़ायदा नहीं उठा सकी और इसी स्कोर पर जीत दर्ज करके न्यूज़ीलैंड ने ख़िताब पर क़ब्ज़ा किया.

इससे पहले तीसरे और चौथे स्थान के लिए हुए मैच में भारत ने मेज़बान अर्जेंटीना को 3-2 से मात दी.

हाफ़ टाइम तक भारतीय टीम 1-2 से पीछे थी. एक समय पहले हाफ़ में अर्जेंटीना की टीम 2-0 से आगे थी. लेकिन भारतीय टीम ने मैच में वापसी की और दूसरे हाफ़ में दो गोल करके जीत हासिल कर ली.

भारत की ओर से पहले हाफ़ में वी रघुनाथ ने गोल किया जबकि दूसरे हाफ़ में गुरबाज सिंह और धनंजय महादिक ने गोल किए.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है