श्रीलंका की पाँच विकेट से जीत

समरवीरा
Image caption समरवीरा को मैन ऑफ़ द मैच भी चुना गया

बांग्लादेश में चल रही त्रिकोणीय श्रृंखला में श्रीलंका ने भारत को पाँच विकेट से हरा दिया है.

भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 279 रन बनाए थे लेकिन श्रीलंका ने 48 ओवरों में ही पाँच विकेट गँवाकर मैच जीत लिया.

श्रीलंका की जीत में समरवीरा के शानदार नाबाद शतक ने अहम भूमिका निभाई. उन्हें मैन ऑफ़ द मैच भी चुना गया.

समरवीरा के साथ साझेदारी में पेरेरा ने 15 गेंदों में 36 रनों की अच्छी पारी खेली. वे भी नाबाद रहे.

इससे पहले संगकारा हरभजन सिंह की गेंद पर रैना के हाथों कैच आउट होने से पहले 80 गेंदों में 60 रनों की अच्छी पारी खेल गए थे.

श्रीलंका की पारी

टॉस जीतने के बाद श्रीलंका ने भारत को पहले बल्लेबाज़ी करने को कहा था और भारत की पारी के बाद श्रीलंका की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही.

थिरिमाने के रुप में जब पहला विकेट गिरा तो नौंवां ओवर चल रहा था और टीम का स्कोर 48 रन था. दूसरा विकेट थरंगा के रुप में सोलहवें ओवर में गिरा. तब टीम का स्कोर 77 रन था.

लेकिन संगकारा और समरवीरा के बीच तीसरे विकेट की साझेदारी में टीम का स्कोर 199 रनों तक जा पहुँचा और जब संगकारा पेवेलियन लौटे तो सैतीसवाँ ओवर चल रहा था.

श्रीलंका का चौथा विकेट कंदंबी के रुप में 41 वें ओवर में ही गिर गया और रणदीव 44 वें ओवर में पेवेलियन लौटे लेकिन तब तक श्रीलंका के लिए जीत आसान हो चुकी थी.

जीत के बाद समरवीरा ने अपनी शानदार बल्लेबाज़ी के लिए थोड़ा सा श्रेय ओस को दिया और बाक़ी कुमार संगकारा के साथ साझेदारी को.

जबकि कुमार संगकारा ने समरवीरा और पेरेरा की बल्लेबाज़ी को जीत के लिए श्रेय दिया.

भारत की ओर से हरभजन सिंह ने दस ओवरों में 47 रन देकर तीन विकेट लिए. एक विकेट श्रीसंत को मिला. रणदीव रन आउट हुए.

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि 280 रनों के बाद मैच को बचाना कठिन होता है. उन्होंने कहा, "हमें शुरुआती ओवरों में विकेट मिले होते तो अच्छा था लेकिन दसवें ओवर के बाद तो गेंदबाज़ों के पास करने को कुछ था ही नहीं."

भारतीय पारी

Image caption युवराज ने 74 रनों की अच्छी पारी खेली

भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और गौतम गंभीर मात्र आठ रन बनाकर ही आउट हो गए. इसके बाद विराट कोहली भी जल्दी ही आउट हो गए.

हालांकि दूसरे छोर पर वीरेंदर सहवाग टिके रहे और उन्होंने आउट होने से पहले 31 गेंदों में 47 रन बनाए.

एक समय भारत का स्कोर 71 रनों पर तीन विकेट था लेकिन उसके बाद चौथे विकेट की साझेदारी में 99 रन बने. चौथे विकेट के लिए ये रन युवराज सिंह और कप्तान धोनी ने जोड़े.

युवराज सिंह ने 84 गेंदों में शानदार 74 रन बनाए. युवराज सिंह तेज़ रन बनाने की कोशिश करते हुए बाऊंड्री के पास कैच आउट हुए.

कप्तान धोनी ने 37 रन बनाए और उन्होंने पेरेरा ने विकेटकीपर के हाथों कैच कराया.

इस साझेदारी के टूटने के बाद मैदान पर आए रैना ने तेज़ रन बनाए लेकिन वो जल्दी ही आउट हो गए.

आउट होने से पहले रैना ने 34 गेंदों में 39 रन बनाए.

निर्धारित पचास ओवरों में भारत ने नौ विकेट खोकर 279 रन बनाए.

श्रीलंका की तरफ से वेलेगेदारा ने 66 रन देकर पाँच विकेट लिए जबकि थुसारा और पेरेरा को दो दो विकेट मिले.

संबंधित समाचार