अफ़्रीकी कप ऑफ़ नेशंस समय से

टोगो टीम की बस
Image caption टोगो टीम की बस पर गोलीबारी हुई

अफ़्रीका कप ऑफ़ नेशंस के आयोजकों ने कहा है कि टोगो की फ़ुटबॉल टीम पर हुए हमले के बावजूद प्रतियोगिता अपने समय से होगी.

अफ़्रीका कप ऑफ़ नेशंस रविवार से अंगोला में शुरू हो रहा है. अफ़्रीकी फ़ुटबॉल महासंघ के एक प्रवक्ता ने कहा, "हमारी पहली प्राथमिकता खिलाड़ियों की सुरक्षा है, लेकिन प्रतियोगिता अपने समय से ही होगी."

शुक्रवार को टोगो की फ़ुटबॉल टीम को अंगोला ले जारी बस पर गोलीबारी हुई, जिसमें बस ड्राइवर की मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए जिनमें दो खिलाड़ी हैं.

कबिंदा के अलगाववादियों ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

आरोप

अफ़्रीकी फ़ुटबॉल महासंघ ने कहा है कि टोगो फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन ने उन्हें यह सूचना नहीं दी कि उनकी टीम कांगो-ब्राज़ाविले में ट्रेनिंग कैंप से बस से यात्रा कर रही हैं. महासंघ का कहना है कि ये इलाक़ा काफ़ी ख़तरनाक है.

महासंघ ने इस पर आश्चर्य व्यक्त किया कि टीम ने हवाई जहाज़ से यात्रा नहीं की. टोगो के खिलाड़ियों को अब ये फ़ैसला करना है कि वे इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे या नहीं.

टीम के कप्तान एम्मानुएल एडेबायोर ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि इस घटना से अफ़्रीका की छवि को नुक़सान पहुँचा है, ख़ासकर ऐसे साल में जब वहाँ विश्व कप का आयोजन होना है.

एडेबायोर ने कहा, "हम बार-बार ये कहते हैं कि अगर हमें सम्मान हासिल करना है तो हमें अपनी छवि बदलनी होगी. लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो रहा है."

एडेबायोर के साथी खिलाड़ी थॉमस डोसेवी ने कहा कि कबिंदा के इलाक़े में घुसने के साथ ही पुलिस की गाड़ी उनकी बस के चारों तरफ़ थी.

अनुभव

उन्होंने बताया, "सब कुछ बिल्कुल ठीक था. लेकिन एकाएक हम पर फ़ायरिंग शुरू हो गई. अपने को बचाने के लिए हर कोई सीट के नीचे छुपने की कोशिश कर रहा था."

कप्तान एडेबायोर ने बताया कि टीम के खिलाड़ी क़रीब 30 मिनट तक बस में फँसे रहे और इस बीच सुरक्षाबलों और हमलावरों के बीच गोलीबारी चल रही थी.

एडेबायोर ने कहा, "मैं अब भी सदमे में हूँ. मैं उन लोगों में शामिल था, जिन्होंने घायल खिलाड़ियों को अस्पताल पहुँचाया. उसी समय मैंने ये समझा कि क्या हो रहा था. उस समय हर खिलाड़ी रो रहा था. कोई अपने परिजनों से बात कर रहा था. हर कोई यही सोच रहा था कि शायद ये उनकी ज़िंदगी का आख़िरी समय है."

इंग्लिश फ़ुटबॉल क्लब मैनचेस्टर सिटी की ओर से खेलने वाले एडेबायोर ने अफ़्रीकी कप ऑफ़ नेशंस में टोगो की टीम के शामिल होने पर संदेह व्यक्त किया और कहा कि अगर सुरक्षा व्यवस्था नहीं सुधरी तो खिलाड़ी स्वदेश लौट जाएँगे.

वापसी?

एडेबायोर ने कहा कि यह सही है कि ये प्रतियोगिता अफ़्रीका की सबसे बड़ी फ़ुटबॉल प्रतियोगिता है लेकिन वे नहीं समझते कि कोई अपनी जान देने को तैयार है.

Image caption कप्तान एडेबायोर के मुताबिक़ कई खिलाड़ी लौटना चाहते हैं

उन्होंने कहा कि कई खिलाड़ी वापस लौटना चाहते हैं.

इस बीच अंगोला के कबिंदा इलाक़े के अलगाववादी गुट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

इस संगठन ने महासचिव रोड्रिगेज़ मिंगास ने कहा कि ये हमला तो एक शुरुआत है और कबिंदा इलाक़े में ऐसे हमले और होंगे.

कबिंदा मामलों के मंत्री एंटोनियो बेन्टो बेम्बे ने कहा कि ये हमला 'आतंकवादी' कार्रवाई है. उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता के लिए सुरक्षा बढ़ाई जाएगी.

फ़ुटबॉल की अंतरराष्ट्रीय संस्था फ़ीफ़ा ने कहा है कि संस्था अंगोला में हुई इस घटना से चिंतित है और टोगो के खिलाड़ियों के प्रति सहानुभूति प्रकट करती है.

संबंधित समाचार