भारत के सामने 214 रनों का लक्ष्य

श्रीलंका की बल्लेबाजी़
Image caption श्रीलंका की बल्लेबाज़ी खराब रही है

भारत और श्रीलंका के बीच बांग्लादेश में खेले जा रहे त्रिकोणीय वनडे सिरीज़ के पाँचवें वनडे में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 214 रनों का लक्ष्य रखा है.

भारतीय गेंदबाज़ों के सामने श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने घुटने टेक दिए और पूरी टीम 47वें ओवर में ही सिमट गई. हालाँकि इस प्रतियोगिता में श्रीलंका ने अबतक खेले तीनों मैचों में जीत दर्ज की है.

भारत की ओर से ज़हीर ख़ान और अमित मिश्रा ने घातक गेंदबाज़ी का प्रदर्शन किया और दोनों ने तीन-तीन विकेट झटके. जबकि सुदीप त्यागी, युवराज सिंह और श्रीसंत के हिस्से में भी एक-एक विकेट आया.

ख़राब फ़ील्डिंग के लिए लगातार आलोचना झेल रही भारतीय टीम ने इस मैच में बेहतरीन फ़ील्डिंग का प्रदर्शन किया है. जहाँ छह खिलाड़ियों के कैच पकड़े गए वहीं एक बल्लेबाज़ी को रन आउट किया.

इससे पहले श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया था.

श्रीलंकाई बल्लेबाज़ी

श्रीलंका की ओर से पारी की शुरुआत थरंगा और तिलकरत्ने दिलशान ने की. पहले ही ओवर में सुदीप त्यागी ने थरंगा को पलेवियन भेज दिया.

पहली ओवर की चौथे गेंद पर दिनेश कार्तिक ने सुदीप त्यागी की गेंद पर थरंगा को कैच आउट कर भारत को एक बड़ी सफ़लता दिलाई. श्रीलंका का पहला विकेट महज़ एक रन के स्कोर पर गिरा.

थरंगा के बाद कुमार संगकारा ने कमान संभाली, लेकिन तिलकरत्ने दिलशान उनका बहुत देर तक साथ नहीं दे सके और जल्दी-जल्दी 17 ही गेंदों में 33 रनों का योगदान देकर ज़हीर की गेंद पर आउट हो गए. उन्होंने अपने 33 रनों की धमाकेदार पारी में आठ चौके लगाए.

Image caption ज़हीर ख़ान ने तीन विकेट लिए हैं

दिलशान के बाद महेला जयवर्धने आए और केवल पाँच रन ही बनाए पाए थे कि वो भी ज़हीर का शिकार बन गए. श्रीलंका का तीन विकेट केवल 60 रनों पर गिर गया.

जयवर्धने के बाद समरवीरा आए, जिन्हें श्रीसंत ने बिना खाता खोले ही पवेलियन भेज दिया. इस तरह 61 के स्कोर पर श्रीलंका के चार विकेट गिर चुके थे.

उसके बाद कादंबी आए और 11 गेंदों का सामना किया, पर एक रन जोड़ ही सके थे कि वो बेहतरीन फ़ील्डिंग के शिकार बन गए. 14वें ओवर में श्रीलंका ने पाँच विकेट पर केवल 66 रन बनाए थे.

इसके बाद श्रीलंका ने 18 रन जोड़े ही थे कि कादंबी के बाद आए परेरा भी आउट हो गए.

परेरा के बाद आए रंदीव ने संगकारा का बख़ूबी साथ दिया और पारी को संभाल रहे थे कि संगकारा ही उनका साथ छोड़ बैठे.

संगाकारा मैदान पर काफ़ी समय तक डटे रहे. उनका कैच रैना ने युवराज की गेंद पर लपका. पर तब तक वो 30वें ओवर में रन को143 के स्कोर लेजा चुके थे. श्रीलंका की ओर से सबसे अधिक उन्होंने ही 78 गेंदों में 68 रन जड़े.

संगकारा के आउट होने के बाद रंदीव और थुसारा ने पारी को संभाली और स्कोर को 143 से 202 रनों पर ले गए.

थुसारा आठवें विकेट पर 202 के स्कोर पर आउट हुए उसके बाद रंदीव भी नहीं टिक सके और टीम का स्कोर सात ही रन बढ़ा था कि अमित मिश्रा ने रंदीव को बोल्ड आउट कर दिया.

फिर क्या था 46वें ओवर की पहली गेंद पर मिश्रा ने आख़िर विकेट चटका कर पूरी पारी को ही समेट दिया.

श्रीलंका की टीम इस प्रतियोगिता में अपने तीनों मैच जीत कर पहले ही फ़ाइनल में जगह बना चुकी है जबकि भारत इस मैच को जीत कर फ़ाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेगा. भारत इससे पहले एक मैच श्रीलंका से हार चुका है जबकि एक मैच में बांग्लादेश को हरा चुका है.

संबंधित समाचार