पीसीबी की खिलाड़ियों पर रोक

एजाज़ बट
Image caption एजाज़ बट ने कहा कि खिलाड़ी इस साल भी हिस्सा नहीं लेंगे और अगले साल भी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों के इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने पर रोक लगा दी है.

बीबीसी हिंदी से विशेष बातचीत में बोर्ड के अध्यक्ष एजाज़ बट ने आईपीएल के चेयरमैन ललित मोदी पर आरोप लगाया है कि उन्होंने टीमों को पाकिस्तानी खिलाड़ी न ख़रीदने के संकेत दिए.

बट ने कहा, "हमारे खिलाड़ियों, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और पाकिस्तान के लिए आईपीएल का रुख़ बहुत ही नकारात्मक रहा है इसलिए पाकिस्तानी खिलाड़ियों के हिस्सा लेने की जो इजाज़त दी गई थी वो वापस ले ली गई है."

बट का कहना था कि जब तक आईपीएल का रुख़ नहीं सुधरता तब तक खिलाड़ी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेंगे. नाराज़ बट ने बताया कि खिलाड़ी इस साल भी हिस्सा नहीं लेंगे और अगले साल भी.

अब रज़्ज़ाक़ भी नहीं

पाकिस्तानी क्रिकेटर अब्दुल रज़्ज़ाक़ के कोलकाता या हैदराबाद की टीमों की ओर से खेलने की संभावना के बारे में बट ने कहा, "अब्दुल रज़्ज़ाक़ से हमारी बात हुई है और उन्होंने कहा है कि अगर इजाज़त देंगे तभी जाएँगे वरना नहीं जाएँगे. हमने जितनी इजाज़त दी थी वो वापस ले ली है इसलिए अब वो भी नहीं जाएँगे और कोई दूसरा खिलाड़ी भी नहीं जाएगा."

क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष ने बताया कि ये फ़ैसला पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने किया है न कि पाकिस्तान सरकार ने.

खिलाड़ियों की आईपीएल के तीसरे सीज़न के लिए बोली लगने के अगले ही दिन बीबीसी से बातचीत में एजाज़ बट ने कहा था कि उनकी आईपीएल चेयरमैन ललित मोदी से संपर्क की कोशिशें क़ामयाब नहीं हुई हैं.

मोदी पर निशाना

इस संबंध में पूछे जाने पर बट ने बताया कि अब तक उनकी ललित मोदी से कोई बात नहीं हुई है और बट ने कहा कि अब तो उनकी बात करने में कोई रुचि भी नहीं है क्योंकि मोदी जानबूझकर उनसे बात करने से कतरा रहे हैं.

बट ने इस बात को भी ख़ारिज किया कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को नहीं लेने का फ़ैसला टीमों का अपना फ़ैसला था.

Image caption एजाज़ बट ने ललित मोदी पर निशाना साधा है

उनका कहना था कि शाहरुख़ ख़ान ने तो ख़ुद पाकिस्तानी खिलाड़ियों में दिलचस्पी दिखाई थी इसलिए ये ललित मोदी ने जानबूझकर किया है.

बट ने फिर याद दिलाया कि पाकिस्तानी टीम ट्वेन्टी-20 की विश्व विजेता टीम है और ऐसी टीम के खिलाड़ियों की इस तरह अनदेखी करने की कोई वजह समझ नहीं आती.

बोर्ड अध्यक्ष ने भारतीय खेल मंत्री मनोहर सिंह गिल का धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेटरों को वीज़ा दिलाने में पूरी सहायता की थी मगर उसके बावजूद ललित मोदी ने टीमों को ये संदेश दिया कि उन्हें पाकिस्तानी खिलाड़ियों को ख़रीदने से परहेज़ करना चाहिए.

संबंधित समाचार