भारत की पारी से हार

डेल स्टेन
Image caption डेल स्टेन ने दोनों पारी में दस विकेट लिए

भारत और दक्षिण अफ़्रीक़ा के बीच नागपुर में खेले गए पहले टेस्ट में भारत एक पारी और छह रनों से हार गया है.

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टेस्ट मैच में यह पहली हार है.

खेल के चौथे दिन भारत की पूरी टीम दूसरी पारी में महज़ 319 रनों पर ही सिमट गई. दूसरी पारी में सचिन ने शानदार शतक जड़ा लेकिन टीम इंडिया को वो पारी की हार से नहीं बचा सके.

दूसरी पारी में सचिन के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज़ अर्धशतक का आंकड़ा पार नहीं कर सका और दक्षिण अफ़्रीक़ी गेंदबाज़ों के सामने मानो सभी बल्लेबाज़ों ने घुटने टेक दिए.

दोनों पारी में भारतीय बल्लेबाज़ डेल स्टेन की सधी हुई गेंदबाज़ी के सामने बेबस नज़र आए. स्टेन ने कुल 10 विकेट झटके. जबकि पॉल हैरिस ने चार विकेट लिए और वेन पार्नेल के खाते में तीन विकेट गए.

दक्षिण अफ़्रीक़ा के 558 रनों के जवाब में भारत ने पहली पारी में भी बहुत ख़राब बल्लेबाज़ी की और पूरी टीम केवल 233 रन ही बना सकी.

जिसके बाद मेहमान टीम ने भारत को फ़ॉलोऑन कराया और फिर भारत दूसरी पारी में भी दक्षिण अफ़्रीक़ा के 558 रनों के आंकड़ों को पार करने में नाकाम रही.

दूसरी पारी

Image caption दूसरी पारी में सचिन के अलावा कोई भी बल्लेबाज़ 40 का अंकड़ा पार नहीं कर सका

भारत ने दूसरी पारी की शुरुआत तीसरे दिन दक्षिण अफ़्रीक़ा के फ़ॉलोऑन कराने के साथ हुई, लेकिन तीसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक भारत ने दो विकेट 24 के स्कोर पर ही गंवा दिए.

दोनों सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर और विरेंद्र सहवाग एक और 16 रन बनाकर पवेलियन भेज दिए गए.

चौथे दिन का खेल जब शुरू हुआ तो भारत का स्कोर था दो विकेट के नुक़सान के 66 रन.

खेल की शुरुआत मुरली विजय और सचिन तेंदुलकर ने की. लेकिन विजय बहुत देर तक सचिन का साथ नहीं दे सके और तीसरे दिन के अपने स्कोर में महज़ पाँच रन जोड़कर 32 के निजी स्कोर पर आउट हो गए. उनका कैच हैरिस की गेंद पर मार्केल ने लिया.

मुरली विजय के बाद बद्रीनाथ भी सचिन का साथ देने में नाकाम रहे और उन्हें पार्नेल ने अपना शिकार बनाया. वो दस का भी आंकड़ा पार नहीं कर सके.

उनके आउट होने के बाद सारी ज़िम्मेदारी कप्तान धोनी और सचिन के कंधों पर थी. लेकिन सचिन शतक जड़ कर धोनी का साथ छोड़ चले. सचिन को हैरिस ने बोल्ड आउट किया.

सचिन के आउट होने के बाद धोनी बहुत देर तक विकेट पर नहीं डटे रह सके और वो 25 रन ही बना सके. उन्हें भी हैरिस ने अपना शिकार बनाया.

धोनी के बाद आए साहा, हरभजन और ज़हीर खान ने कुछ अच्छी बल्लेबाज़ी की. साहा ने 36, हरभजन ने 39 और ज़हीर ने 33 रन जड़े, लेकिन साहा के आउट होने के बाद नौवें विकेट पर आए मिश्रा को स्टेन ने बिना खातो खोले ही पवेलियन वापस भेज दिया और इस तरह पूरी पारी 319 रन पर सिमट गई.

संबंधित समाचार