ओलंपिक अधिकारी इस्तीफ़ा दें:मेदवेदेव

शीतकालीन ओलंपिक में रूस के खराब प्रदर्शन के बाद रूसी राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने ओलंपिक अधिकारियों से इस्तीफ़ा देने के लिए कहा है.

शीतकालीन ओलंपिक के इतिहास में ये रूस का सबसे ख़राब प्रदर्शन था.

रूसी राष्ट्रपति ने कहा है कि कनाडा में हुए ओलंपिक खेलों के लिए जिन अधिकारियों ने खिलाड़ियों को तैयार किया था उन्हें इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

उन्होंने कहा, “अगर वे ऐसा नहीं कर पा रहे तो हम उनकी मदद करेंगे.”

रूस को पारंपरिक तौर पर शीतकालीन खेलों का बादशाह माना जाता है. लेकिन इस बार उसे केवल तीन स्वर्ण मिले और वो 11वें स्थान पर रहा.

सत्ताधारी यूनाइटेड रशिया पार्टी की बैठक में मेदवेदेव ने कहा, “लंबे समय तक हम सोवियत संघ की उपलब्धियों का फ़ायदा उठाते रहे हैं लेकिन वक़्त के साथ ये ख़त्म हो गया.”

उन्होंने गुहार लगाई है कि रूसी खिलाड़ियों को तैयार करने की प्रणाली बदली जाए. अगले शीतकालीन ओलंपिक खेल रूस के सोची शहर में होंगे.

1991 में सोवियत संघ के विघटन के बाद से ओलंपिक खेलों में रूस का प्रदर्शन लगातार खराब हुआ है.

कनाडा में हुआ ओलंपिक रूस के लिए ज़्यादा ख़राब रहा क्योंकि आईस हॉकी और फ़िगर स्केटिंग में रूस का प्रदर्शन अच्छा नहीं था.