कपिल देव हॉल ऑफ़ फ़ेम से नवाज़े गए

कपिल देव
Image caption कपिल देव ने वर्ष 1983 में अपनी कप्तानी में भारत को विश्व कप जीताया था

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भारत के प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ी कपिल देव को हॉल ऑफ़ फ़ेम की सूची में औपचारिक रुप से शामिल कर लिया है.

दुबई स्थित आईसीसी के मुख्यालय में आयोजित एक समारोह कपिल को इस सम्मान से नवाज़ा गया. इस मौक़े पर आईसीसी के अध्यक्ष डेविड मोर्गन ने कपिल देव को एक विशेष टोपी भेंट की. इस समारोह में पूर्व हॉल ऑफ़ फ़ेम क्लाइव लॉयड भी शामिल थे.

पुरस्कार पाने के बाद कपिल देव ने कहा, "मैं इस पुरस्कार को पा कर बहुत ही ख़ुश हूं.''

उनका कहना था, "हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल किए जाने से मुझे गर्व है. मुझे ये सोचना बहुत अच्छा लग रहा है कि मुझे भारत के एक बड़े खिलाड़ी के तौर पर इस सूची में शामिल किया गया है."

भारत के दो अन्य सितारे सुनील गावसकर और बिशन सिंह बेदी को भी इस सूची में शामिल किया गया है और उन्हें औपचारिक रुप से यह सम्मान दिया जाना बाक़ी है.

हॉल ऑफ़ फ़ेम, फ़ेडरेशन ऑफ़ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन के सहयोग से दिया जाना वाला सम्मान है जो महान खिलाडियों को दिया जाता है.

कपिल का सफ़र

कपिल को सम्मानित करने के बाद मोर्गन ने कहा, "कपिल एक महान खिलाड़ी हैं. उन्होंने सब कुछ किया. उन्होंने गेंदबाज़ी की, बल्लेबाज़ी की और वो एक बेहतरीन फ़ील्डर रहे. मुझे उनके ज़रिए 1983 के विश्व कप फ़ाइनल मुक़बाले में विवियन रिचर्ड्स का पकड़ा गया कैच याद है. वो दौड़ रहे थे और गेंद उनके कंधे पर आ गया, शायद वो सबसे मुश्किल कैच था."

उनका कहना था, "मुझे कपिल को विशेष टोपी भेंट करते हुए और औपचारिक तौर पर आईसीसी के हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल करते हुए बहुत ख़ुशी हो रही है."

कपिल देव ने वर्ष 1983 में भारत को अपनी कप्तानी में क्रिकेट का विश्व कप जिताया था और वो एक बड़े ऑल राउंडर माने जाते हैं.

कपिल देव का जन्म 6 जनवरी 1959 को चंडीगढ़ में हुआ. उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत एक अक्तूबर 1978 को पाकिस्तान के ख़िलाफ की.

कपिल ने अपने 16 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय करियर में कुल 131 टेस्ट मैचों में हिस्सा लिया जबकि 225 वनडे मैच खेले. इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 434 विकेट झटके जबकि वनडे में 253 विकेट लिए.

कपिल ने टेस्ट में 5248 रन बनाए, जिन में आठ शतक और 27 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं 31.05 के औसत से वनडे में 3783 रन बनाए.

कपिल ने उस समय क्रिकेट के मैदान पर अपना सिक्का जमाया जब पाकिस्तान के इमारन ख़ान, इंग्लैंड के इयन बॉथम, न्यूज़ीलैंड के रिचर्ड हैडली मैदान पर अपना जलवा बिखेर रहे थे.

संबंधित समाचार