सात खिलाड़ियों पर कार्रवाई

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने एक ऐतिहासिक फ़ैसले में टीम के सात वरिष्ठ खिलाडि़यों के खेलने पर प्रतिबंध लगाया है, चेतावनी दी है और भारी जुर्माना भी लगाया है.

बोर्ड ने यह क़दम पाकिस्तान टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे में हुई हार के बाद गठित एक समिति की जांच रिपोर्ट के आधार पर लिया है.

जिन खिला़ड़ियों के खिलाफ़ कार्रवाई की गई है, वे हैं - मोहम्मद यूसुफ़, यूनिस ख़ान, शोएब मलिक, राणा नवीद-उल-हसन, कामरान अकमल, उमर अकमल और शाहिद अफ़रीदी.

प्रतिबंध और जुर्माना भी

इस फ़ैसले के तहत बोर्ड ने मोहम्मद यूसुफ़ और यूनिस ख़ान के राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्रतिबंध की समयसीमा तय नहीं है.

इसके अलावा शोएब मलिक और राणा नवीद-उल-हसन के राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलने पर एक साल के लिए प्रतिबंध लगाया गया है.

वहीं अकमल भाइयों - कामरान और उमर अकमल और शाहिद अफ़रीदी को चेतावनी दी गई है और छह महीने वे क्रिकेट नहीं खेल पाएँगे. उन पर नज़र रखी जाएगी और इस अवधि के बाद उनके बर्ताव की समीक्षा होगी.

इन खिलाड़ियों को अलग-अलग आरोपों के तहत 20 से 30 लाख रुपए तक का जुर्माना भी भरना होगा.

यूसुफ़ और यूनिस ख़ान इस समय पाकिस्तान की टीम के दो वरिष्ठ खिलाड़ी हैं. ये दोनों राष्ट्रीय टीम के लिए फ़िलहाल नहीं खेल पाएँगे लेकिन ये दोनों खिलाड़ी काउंटी और घरेलू क्रिकेट खेल सकते हैं.

कई रिपोर्टों का विश्लेषण, पूछताछ

पाकिस्तान टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद वसीम बारी की अध्यक्षता में समिति बनाई गई थी. इसके सदस्य थे वज़ीर अली खोजा, यावर सईद, ज़ाकिर ख़ान और तफ़ज़्ज़ुल हैदर रिज़वी.

समिति ने 12, 13 और 17 फ़रवरी को बैठकें की जिनमें इन खिलाड़ियों के साथ-साथ पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मैनेजर अब्दुल रक़ीब, पीसीबी के विश्लेषक मोहम्मद तल्हा, टीम फ़िज़ियो डॉक्टर फ़ैसल हयात और टीम के सहायक कोच आक़िब जावेद को पूछताछ के लिए बुलाया गया.

टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कोच की रिपोर्ट, मैनेजर की रिपोर्ट और गेंदबाज़ी के सलाहकार वक़ार यूनुस की रिपोर्ट पीसीबी की समिति को उपलब्ध कराई गई. समिति ने मीडिया रिपोर्टों से भी जानकारी आर्जित की और फिर पूछताछ की प्रक्रिया को पूरा किया.

पीसीबी चेयरमैन एजाज़ बट ने सोमवार को चयन समिति के सदस्यों के साथ एक बैठक कर उन्हें समिति की रिपोर्ट की जानकारी दी थी.

संबंधित समाचार