अब 'अंतरराष्ट्रीय' आईपीएल

आईपीएल

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ने अतिरिक्त राजस्व जुटाने के लिए अगले साल से कुछ प्रदर्शनी मैच विदेशों में कराने का फ़ैसला किया है.

हालाँकि आईपीएल के कमिश्नर ललित मोदी ने स्पष्ट किया है कि मुख्य मुक़ाबले भारत में ही होंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में ललित मोदी ने कहा, "सभी टीमें हर साल चार-पाँच मैच विदेशों में खेलेंगी. लेकिन ये मैच मुख्य मुक़ाबलों से अलग होंगे."

इसे एक अरब डॉलर के घरेलू व्यवसाय से अलग राशि जुटाने की कोशिश माना जा रहा है.

कोशिश

ललित मोदी ने कहा कि आईपीएल हमेशा भारत में ही होगा और मुख्य सीज़न के मैच यहीं खेले जाएँगे.

उन्होंने बताया कि विदेशों में प्रदर्शनी मैच आयोजित किए जाएँगे ताकि अतिरिक्त राजस्व जुटाया जा सके.

ललित मोदी ने कहा, "हम प्रदर्शनी मैचों का आयोजन करके अतिरिक्त राजस्व जुटाने की बात कर रहे हैं. ये एक तरह का अंतरराष्ट्रीय लीग होगा. ये मुख्य मुक़ाबलों के बाद अलग-अलग देशों में खेला जा सकता है."

इंडियन प्रीमियर लीग में इस समय आठ टीमें हिस्सा ले रही हैं लेकिन अगले साल से इसमें दो और टीमें जुड़ रही हैं.

संबंधित समाचार