राणा नवीद को पीसीबी की सलाह

राणा नवीद उल हसन

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने राणा नवीद-उल-हसन से कहा है कि पाबंदी के ख़िलाफ़ क़ानूनी नोटिस भेजने के बजाए वे अपील करें.

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पाकिस्तानी खिलाड़ियों के ख़राब प्रदर्शन के बाद पीसीबी ने एक समिति का गठन किया था, जिसकी सिफ़ारिश पर कई खिलाड़ियों पर पाबंदी या जुर्माना लगाया गया.

राणा नवीद-उल-हसन भी उनमें से एक खिलाड़ी थे. पीसीबी ने उन पर एक साल की पाबंदी और 20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है.

गुरुवार को नवीद-उल-हसन ने पीसीबी को क़ानूनी नोटिस भेजकर पाबंदी और जुर्माने के लिए कारण पूछे थे.

अपील

पीसीबी के क़ानूनी सलाहकार तफ़ज़्ज़ुल रिज़वी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, "हमने नवीद उल हसन की क़ानूनी नोटिस का जवाब दे दिया है और उन्हें पाबंदी के ख़िलाफ़ औपचारिक अपील करने को कहा है."

उन्होंने बताया कि पीसीबी के संविधान के मुताबिक़ अपील करने के बाद ही किसी भी खिलाड़ी को कारण बताया जाएगा और इसके बाद ही वे मामले की समीक्षा के लिए अपीलीय ट्राइब्यूनल का दरवाज़ा खटखटा सकते हैं.

पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड ने जिन सात खिलाड़ियों पर पाबंदी और जुर्माना लगाया गया है, उनमें मोहम्मद यूसुफ़, यूनिस ख़ान, शोएब मलिक, राणा नवीद-उल-हसन, कामरान अकमल, शाहिद अफ़रीदी और उमर अकमल.

पूर्व कप्तान मोहम्मद यूसुफ़ ने तो इस पाबंदी से आहत होकर पिछले दिनों अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है.

संबंधित समाचार