'कोई टीम हटाई नहीं जाएगी'

चिरायु अमीन
Image caption अमीन ने कहा है कि वो पार्टियों के ख़िलाफ़ नहीं हैं मगर आईपीएल के नाम पर न हों पार्टियाँ

इंडियन प्रीमियर लीग के अंतरिम अध्यक्ष चिरायु अमीन का कहना है कि आईपीएल की किसी टीम को लीग से हटाने की योजना नहीं है सिर्फ़ ज़्यादा पारदर्शिता लाने की ज़रूरत है.

राजस्थान रॉयल्स में राज कुंद्रा के परिवार की हिस्सेदारी और किंग्स एलेवन पंजाब टीम में प्रीति ज़िंटा की हिस्सेदारी से जुड़े सवालों पर अमीन ने बीबीसी हिंदी से विशेष बातचीत में ये आश्वासन दिया है.

उन्होंने कहा, "हमने कुछ जानकारियाँ माँगी थीं और वे टीमें वो जानकारियाँ दे रही हैं. मुझे नहीं लगता कि किसी टीम को आईपीएल से प्रतिबंधित किया जाएगा मगर उन्हें सारी सूचनाओं के साथ पारदर्शिता लानी होगी."

पार्टियों के ख़िलाफ़ नहीं

साथ ही इस साल आईपीएल मैच के बाद आयोजित पार्टियाँ बंद करने की घोषणा कर चुके अमीन ने ये भी कहा है कि वो पार्टियों के ख़िलाफ़ नहीं हैं मगर आईपीएल के नाम के साथ ये पार्टियाँ आयोजित नहीं की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा, "आईपीएल नाइट्स का क्रिकेट से कोई लेना देना नहीं था क्योंकि बीसीसीआई या आईपीएल के लोग उससे जुड़े नहीं थे. मगर उसे आयोजित करने के अधिकार दिए गए और इससे सही संकेत नहीं जाता."

Image caption ललित मोदी को निलंबित किया गया है और 15 दिनों के भीतर उन्हें जवाब देना है

अमीन का कहना था, "हम पार्टियाँ करने के ख़िलाफ़ नहीं हैं. टीम के मालिक पार्टी कर सकते हैं और खिलाड़ी जा सकते हैं मगर आईपीएल की ओर से कोई पार्टी आयोजित नहीं हो सकती."

आईपीएल के नाम पर जिस तरह पैसा बनाया गया है अमीन उस हर तरीक़े से सहमत नहीं हैं और एक सीमा रेखा तय करना चाहते हैं.

उनका कहना था, "गवर्निंग काउंसिल को सीमा तय करनी होगी कि हम क्या कर सकते हैं और क्या नहीं. आप बहुत सी चीज़ों से पैसे कमा सकते हैं मगर इसका मतलब ये नहीं होता कि आप वो हर क़दम उठाएँगे."

अभी और इंतज़ार

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी को काफ़ी पसंद करने वाले अमीन ने कहा कि ऐसा नहीं है कि वो टेस्ट क्रिकेट को या क्रिकेट के अन्य स्वरूपों को पसंद नहीं करते मगर उनका कहना है कि ट्वेन्टी-20 क्रिकेट ने क्रिकेट में एक नया उत्साह भरा है.

ललित मोदी के विरुद्ध हो रही जाँच और लापता दस्तावेज़ों के बारे में अमीन का कहना था कि अभी जाँच पूरी होने देना चाहिए और उससे पहले कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा.

अगले साल आईपीएल को और बड़े स्वरूप में लाने का विश्वास करने वाले अमीन ने माना कि आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल को आईपीएल से जुड़ी गतिविधियों पर और ज़्यादा पैनी निगाह रखनी चाहिए थी.

संबंधित समाचार