किसी एक टीम पर दाँव नहीं

बहुचर्चित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) समाप्त होने के पाँच दिनों के अंदर ही वेस्टइंडीज़ में दुनियाभर की शीर्ष टीमें ट्वेन्टी-20 विश्व कप के लिए जमा हैं.

सत्रह दिनों तक चलने वाली इस प्रतियोगिता का पहला मैच गयाना में न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका के बीच होगा. जबकि दूसरे मैच में मेज़बान वेस्टइंडीज़ की टीम आयरलैंड से भिड़ेगी.

क़रीब एक साल पहले इंग्लैंड में हुए दूसरे ट्वेन्टी-20 विश्व कप का ख़िताब पाकिस्तान ने जीता था.

इस बार मुक़ाबला कौन जीतेगा- कहना काफ़ी मुश्किल है. ट्वेन्टी 20 मैचों का स्वरूप ही ऐसा है कि किसी एक टीम पर दाँव लगाना जानकारों के लिए मुश्किल हो जाता है.

पहले विश्व कप में शायद ही किसी ने भारत पर दाँव लगाया, लेकिन भारत ने ख़िताब पर क़ब्ज़ा कर लिया.

दूसरे विश्व कप में तो पाकिस्तान के बारे में किसी ने सोचा न था और पाकिस्तान की टीम प्रतियोगिता के शुरुआती दिनों में ख़राब प्रदर्शन भी कर रही थी.

लेकिन एकाएक सबकुछ बदल गया और ख़िताब पर पाकिस्तान का क़ब्ज़ा हुआ.

मुश्किल

इस बार भी किसी एक टीम को दावेदार कहना मुश्किल है. अगर देखा जाए तो ट्वेन्टी-20 फ़ॉर्मेट में पाकिस्तान की जीत का प्रतिशत सबसे ज़्यादा है.

Image caption भारतीय टीम से भी काफ़ी उम्मीदें हैं

पाकिस्तान ने अभी तक 30 मैच खेले हैं, जिनमें से 22 में उसे जीत मिली है और सात में हार. एक मैच का नतीजा नहीं निकल पाया था.

लेकिन प्रतियोगिता के पहले पाकिस्तानी क्रिकेट में भूचाल आया था. ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस आई टीम के कई वरिष्ठ खिलाड़ियों पर पाबंदी और जुर्माना लगा.

इस बार टीम की कमान शाहिद अफ़रीदी के पास है, जो ट्वेन्टी-20 फ़ॉर्मेट के हिट खिलाड़ी माने जाते हैं.

भारतीय टीम ने वर्ष 2007 में हुए पहले ट्वेन्टी-20 विश्व कप का ख़िताब जीता था. अब तो इंडियन प्रीमियर लीग की सफलता के कारण इस फ़ॉर्मेट के कई शानदार खिलाड़ियों का वहाँ उदय हुआ है.

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने इस बार आईपीएल में बाज़ी मारी है और भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों को उम्मीद है कि धोनी अपनी कप्तानी में इस बार विश्व कप भी जीतकर लाएँगे.

इस विश्व कप में भारतीय टीम अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ मैच से अपना अभियान शुरू करेगी.

दम

दूसरी ओर 50 ओवर की विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया की टीम ट्वेन्टी-20 में अभी तक अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है.

Image caption ऑस्ट्रेलिया की टीम इस बार कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती

पिछले साल के ट्वेन्टी-20 विश्व कप में तो ऑस्ट्रेलिया की टीम पहले राउंड से ही बाहर हो गई थी.

लेकिन कई विस्फोटक बल्लेबाज़ों से भरी ऑस्ट्रेलिया की टीम माइकल क्लार्क की कप्तानी में इस बार ट्रॉफ़ी जीतने की कोशिश करेगी.

वर्ष 2009 में फ़ाइनल तक पहुँचने वाली श्रीलंका की टीम में कई शानदार और अनुभवी खिलाड़ी हैं और यही हाल दक्षिण अफ़्रीका की टीम का भी है.

वेस्टइंडीज़

इन सबके बीच मेज़बान वेस्टइंडीज़ को नज़रअंदाज़ करना ख़तरनाक हो सकता है. वेस्टइंडीज़ की टीम में दो ख़तरनाक खिलाड़ी कप्तान क्रिस गेल और केरॉन पोलार्ड हैं.

Image caption पोलार्ड से वेस्टइंडीज़ को काफ़ी उम्मीदें हैं

केरॉन पोलार्ड ने आईपीएल-3 में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए अपने हाथ दिखाए थे. इसलिए विरोधी टीमों के लिए वे बड़ा ख़तरा साबित हो सकते हैं.

अपने घरेलू मैदान का फ़ायदा तो वेस्टइंडीज़ को होगा ही. इसके अलावा टीम में तेज़ गेंदबाज़ और अनुभवी बल्लेबाज़ों की कमी नहीं है.

अन्य टीमों के मुक़ाबले इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड और बांग्लादेश की टीमों को कम तो माना जा रहा है लेकिन ट्वेन्टी-20 में ये टीमें भी कुछ कर गुज़रने में सक्षम हैं.

ज़िम्बाब्वे, आयरलैंड और अफ़ग़ानिस्तान की टीमें भी उलटफेर करने की तैयारी में जुटी हैं.

अनुभव

न्यूज़ीलैंड की टीम में कई अनुभवी खिलाड़ी हैं और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का अनुभव देखें तो न्यूज़ीलैंड की टीम सबसे अनुभवी है.

Image caption जयसूर्या के अनुभव का फ़ायदा श्रीलंका को मिलेगा

डेनियल वेटोरी टीम के कप्तान हैं और वेस्टइंडीज़ की पिच पर टीम का प्रदर्शन भी शानदार रहा है. वर्ष 2007 में 50 ओवरों के विश्व कप में टीम सेमी फ़ाइनल तक पहुँची थी.

श्रीलंका की टीम इस विश्व कप के फ़ाइनल तक पहुँची थी. इस बार उनकी टीम भी काफ़ी संतुलित है.

टीम में ट्वेन्टी-20 फ़ॉर्मेट में हिट कई खिलाड़ी हैं. उसके कई खिलाड़ी आईपीएल-3 में हिस्सा लेने के बाद वेस्टइंडीज़ पहुँचे हैं.

सनथ जयसूर्या धमाकेदार बल्लेबाज़ हैं, तो कप्तान कुमार संगकारा भी पीछे नहीं. महेला जयवर्धने ने अपनी सधी हुई पारी से दिखाया है कि वे कितने ख़तरनाक हो सकते हैं.

जबकि लसिथ मलिंगा के रूप में टीम के पास घातक गेंदबाज़ है. आईपीएल-3 में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए मलिंगा ने बेहतरीन गेंदबाज़ी की थी.

अब देखना ये है कि फटाफट क्रिकेट की इस प्रतियोगिता में कौन बाज़ी मारता है.

संबंधित समाचार