शिविरों में पले-बढ़े अफ़ग़ान देंगे भारत को टक्कर

आशीष नेहरा और धोनी
Image caption भारत ने 2007 में टी-20 विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट जीता था

वेस्टइंडीज़ में खेले जा रहे टी-20 विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट में भारत का पहला मुक़ाबला शनिवार को अफ़ग़ानिस्तान से होगा.

भारत इस मैच में जहाँ ज़ोरदार जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगा, वहीं अफ़ग़ानिस्तान के खिलाड़ी अपने हिंसाग्रस्त देश के लोगों को जीत का तोहफ़ा देने का प्रयास करेंगे.

अफ़ग़ानिस्तान की क्रिकेट टीम ने पिछले कुछ साल में कई चौंकाने वाले परिणाम दिए हैं. युद्ध की मार झेल रहे अफ़ग़ानिस्तान के आधे से अधिक खिलाड़ी शरणार्थी शिविरों में पले-बढ़े हैं.

अफ़ग़ानिस्तान की टीम 2007 में विश्व कप के लिए क्वालीफ़ाई करने से चूक गई थी, लेकिन इस टीम की सफलता का ग्राफ़ बहुत तेज़ी से बढ़ा है.

हालाँकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के अनुभव के मामले में भारत से अफ़ग़ानिस्तान की तुलना नहीं की जा सकती है.

अनेक पर्यवेक्षक मानते हैं कि अफ़ग़ानों का सामना अभी ज़हीर ख़ान के बाउंसरों और हरभजन सिंह की फिरकी से नहीं हुआ है. यही नहीं, लंबी-चौड़ी कद-काठी वाले अफ़ग़ान गेंदबाज़ों ने अभी युवराज सिंह, सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी के क़रारे प्रहार भी नहीं झेले हैं.

अनजान प्रतिद्वंद्वी

तमाम समीकरण पक्ष में होने के बावजूद भारतीय टीम अफ़ग़ानिस्तान को हल्के में नहीं लेता चाहती है. तीन साल पहले वेस्टइंडीज़ में ही बांग्लादेश के ख़िलाफ़ इसी ग़लती ने उसे 50 ओवरों के विश्व कप से बाहर कर दिया था.

टी-20 विश्व कप से पहले भारत ने वेस्टइंडीज़ में कोई अभ्यास मुक़ाबला भी नहीं खेला है और अपने ग्रुप के दूसरे मुक़ाबलों की तरह इस मैच को भी चौकन्ना होकर खेलना चाहती है.

मैच से पहले कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने संवाददाताओं से कहा, "हम कभी भी अपने प्रतिद्वंद्वियों को कम नहीं आंकते. हम चाहे किसी भी टीम के ख़िलाफ़ खेल रहे हों, उसे हल्के में नहीं लेते क्योंकि हर मैच में हम भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे होते हैं."

इस बीच, काबुल में बीबीसी संवाददाता दाउद आज़मी के अनुसार, "अफ़ग़ानिस्तान के लोग इस मुक़ाबले का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं और मैच को लेकर बहुत खुश हैं. लोग इसलिए भी खुश हैं कि अफ़ग़ानिस्तान में पहली बार क्रिकेट मैच को टेलीविज़न पर दिखाया जाएगा. अफ़ग़ानिस्तान ने पिछले कुछ सालों में कई अच्छी टीमों को शिकस्त दी है, इसलिए लोगों को इस मैच से काफी उम्मीदें हैं."

टीमें (संभावित खिलाड़ी):

भारत- महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), गौतम गंभीर, सुरेश रैना, मुरली विजय, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा, यूसुफ पठान, हरभजन सिंह, प्रवीण कुमार, विनय कुमार, ज़हीर ख़ान और आशीष नेहरा.

अफ़ग़ानिस्तान- नौरोज़ मंगल (कप्तान), करीम सादिक, नूर अली, मोहम्मद शहज़ाद, हामिद हसन, मीरवाइज अशरफ, मोहम्मद नबी, समीउल्लाह शेनवारी, असग़र स्तनिकज़इ, शपूर ज़ारदान, रईस अहमदज़ई.

संबंधित समाचार