बीबीसी फ़न ऐंड गेम्स

सुरेश रैना
Image caption सुरेश रैना अपने बढ़िया प्रदर्शन के लिए वरिष्ठ खिलाड़ियों को श्रेय देते हैं.

बीबीसी फ़न ऐंड गेम्स में इस हफ़्ते बात टी20 वर्ल्ड कप, सचिन तेंदुलकर के 'ट्विटर' पर जुड़ने और राष्ट्रमंडल खेलों को मिली चेतावनी के बारे में. साथ ही एक ख़ास बात भारतीय फ़ुटबॉलर सुनील छेत्री के साथ.

वैस्टइंडीज़ में चल रहा टी20 वर्ल्ड कप सुपर 8 में पहुंच गया है और भारतीय टीम को यहां तक ले जाने में सुरेश रैना का एक बड़ा योगदान रहा. साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैच में रैना ने शतक बनाया और वे कहते हैं कि उन्हें वरिष्ठ खिलाड़ियों से बहुत समर्थन मिला.

इंगलैंड टीम के कप्तान पॉल कॉलिंगवुड इस बात से परेशान हैं कि टी20 मेचों में डकवर्थ-ल्यूइस विधि का प्रयोग नहीं होना चाहिए. वैस्टइंडीज़ और इंगलैंड के मैच का परिणाम डकवर्थ-ल्यूइस विधि से निकाला गया था और 191 रन ठोकने के बावजूगूद, इंगलैंड ये मैच हार गया.

सुपर 8 में भारत के पूल में ऑस्ट्रेलिया, श्री लंका और वैस्टइंडीज़ हैं. पूर्व भारतीय टेस्ट खिलाड़ी अरुण लाल कहते हैं कि मुकाबला बहुत मुश्किल होगा.

वैस्टइंडीज़ में महिला टी20 वर्ल्ड कप भी खेला जा रहा है. वैस्टइंडीज़ की डीऐंड्रा डॉटिन, टी20 में शतक बनाने वाली पहली महिला बनीं. साथ ही उन्होंने पुरुष और महिला टी20 में सबसे तेज़ शतक बनाने का भी रिकॉर्ड बनाया. डीऐंड्रा डॉटिन बता रहीं हैं कि अपनी पारी के बारे में.

सुनिए बीबीसी फ़न ऐंड

Image caption हाल ही में सचिन तेंदुलकर सोशल नेटवर्किंग साइट 'ट्विटर' से जुड़े.

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के नाम पर आम की दो किस्मों का उत्पाद हुआ है. साथ ही वे सोशल नेटवर्किंग साइट 'ट्विटर' पर जुड़ने के लिए भी चर्चा में रहे. बीबीसी ने एक ख़ास बातचीत में सचिन के दोस्त अतुल कस्बेकर के जाना कि उन्हें 'ट्विटर' से जुड़ने के लिए किसने प्रेरित किया. इसके अलावा बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी और जाने-माने खेल पत्रकार अयाज़ मैमन क्या सोचते हैं इस विषय पर, ये भी आप इस कार्यक्रम में सुन सकते हैं.

राष्ट्रमंडल खेलों को शुरु होने में सिर्फ़ पांच महीने ही रह गए हैं और जांच के लिए आई एक टीम नें खेल की तय्यारियों को लेकर चिंता प्रकट की है. लेकिन भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष, सुरेश कलमाड़ी का कहना है कि दिल्ली में होने वाले राष्ट्रमंडल खेल अब तक के सबसे बढ़िया खेल होंगे.

ख़ास बात

बीबीसी ने बात की सुनील छेत्री से, जो अमरीका की मेजर लीग सॉकर में खेलने वाले पहले भारतीय हैं. सुनील छेत्री कहते हैं कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर गिनेचुने भारतीय फ़ुटबॉलर होने की वजह है कि वे विदेश में रहने से डरते हैं.

सुनील छेत्री ने ये भी कहा कि भारत में खेलते रहने से उनके करियर में स्थिरता आ गई थी जिसकी वजह से उन्होंने मेजर लीग सॉकर से जुड़ने का फ़ैसला किया.

संबंधित समाचार