फ़ुटबॉल विश्व कप शुरु, मंडेला उदघाटन समारोह में नहीं आए

फ़ु़टबॉल का महामुक़ाबला शुक्रवार को दक्षिण अफ़्रीका में शुरु हो गया. विश्व कप का उदघाटन जोहानेसबर्ग शहर में हुआ जहाँ रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किया गया. प्रतियोगिता का पहला मैच मेज़बान दक्षिण अफ़्रीका और मेक्सिको के बीच सॉकर सिटी स्टेडियम में खेला गया. दोनों देशों ने एक-एक गोल किया और मैच ड्रॉ रहा.

इसके बाद दूसरा मैच केपटाउन में फ़्रांस और उरुग्वे के बीच हुआ. इस मैच में भी दोनों ही टीमें कोई गोल नहीं कर पाईं. फ़्रांस को मैच में गोल करने के कुछ नज़दीकी मौक़े मिले लेकिन गेंद गोलपोस्ट के भीतर नहीं जा पाई.

उधर उरुग्वे ने भी कुछ बढ़िया निशाने लक्ष्य पर साधे लेकिन कामयाबी उनके हाथ भी नहीं लगी.

ये पहली बार है जब फ़ुटबॉल विश्व कप अफ़्रीकी महाद्वीप में आयोजित किया गया है.

दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला उदघाटन समारोह में हिस्सा नहीं ले पाए. शुक्रवार सुबह हुई एक सड़क दुर्घटना में उनकी 13 वर्षीय पड़पोती ज़ेनानी मंडेला की मौत हो गई है.

उदघाटन समारोह

40 मिनट तक चले उदघाटन समारोह में 1581 कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियाँ दीं जिसमें कई जानी-मानी हस्तियाँ भी शामिल हैं. स्टेडियम पूरे तरह नहीं भर पाए क्योंकि बहुत सारे दर्शक ट्रेफ़िक जाम में फँसे थे और पहुँच नहीं पाए.

दक्षिण अफ़्रीका के राष्ट्रपति जेकब ज़ूमा और आर्चबिशप डेसमंड टुटू भी उदघाटन समारोह के लिए सॉकर सिटी स्टेडियम पहुँचे.

राष्ट्रपति ज़ूमा ने समारोह से पहले अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि दक्षिण अफ़्रीका एकदम जीवंत हो उठेगा और इस विश्व कप के बाद देश बिल्कुल बदल जाएगा.

ज़ूमा ने दक्षिण अफ़्रीका को विश्व कप की मेज़बानी दिलाने में नेल्सन मंडेला की भू्मिका की तारीफ़ भी की है.

उन्होंने कहा, “नेल्सन मंडेला ने काफ़ी मेहनत की थी कि दक्षिण अफ़्रीका विश्व कप की मेज़बानी कर सके. हम ये विश्व कप उन्हें समर्पित करते हैं. कुछ लम्हे ऐसे होते हैं जो किसी देश के इतिहास में मील का पत्थर साबित होते हैं. हम ऐसी ही घड़ी की दहलीज़ पर खड़े हैं.”

विश्व कप से गुरुवार को स्वेटो में एक बड़ा कॉन्सर्ट आयोजित किया गया था जहाँ शकीरा समेत कई कलाकार आए. शकीरा ने विश्व कप के आधिकारिक गाने वाका वाका पर प्रस्तुति दी.

वर्ष 2004 में मेज़बानी मिलने के बाद से दक्षिण अफ़्रीका ने अब तक स्टेडियमों, यातायात ढाँचे और हवाईअड्डों पर 40 अरब रैंड खर्च किए हैं.

इस विश्व कप में 32 देश हिस्सा ले रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि ये विश्व कप दक्षिण अफ़्रीका की जीडीपी में 0.5 फ़ीसदी की बढ़ोतरी करेगा. करीब तीन लाख 70 हज़ार पर्यटकों के आने की उम्मीद है.

करीब 215 देशों के लोग टीवी पर प्रतियोगिता का आनंद उठा पाएँगे और दर्शकों की संख्या करोड़ों में होगी.

उम्मीदें

कुल मिलाकर 64 मैच खेले जाएँगे और फ़ाइनल मैच सॉकर सिटी स्टेडियम में 11 जुलाई को खेला जाएगा.

हालांकि टिकट बिक्री और सुरक्षा को लेकर चिंताएँ जताई जा रही हैं. टिकट वितरण को लेकर फ़ीफ़ा की आलोचना हुई है.

आलोचकों का कहना है कि इंटरनेट पर टिकट खरीदने की सुविधा देने के कारण ऐसे कई लोग वंचित रह गए हैं जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है.

लेकिन फ़ीफ़ा ने बुधवार को घोषणा की है कि उसने दक्षिण अफ़्रीका के लोगों के लिए अलग से टिकट दी हैं और कुल 31 लाख टिकटों में से 97 फ़ीसदी बिक चुकी हैं.

दर्शकों और खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई गई है. वर्तमान चैंपियन इटली अपना पहला मैच सोमवार को पैराग्वे के ख़िलाफ़ खेलेगा. मंगलवार को ब्राज़ील का मैच उत्तर कोरिया से होगा जबकि यूरो विजेता स्पेन बुधवार को स्विट्ज़रलैंड से भिड़ेगा.

दक्षिण अफ़्रीका विश्व कप में ग्रुप स्टेज से कभी आगे नहीं बढ़ा है.

बीबीसी संवाददाता पंकज प्रियदर्शी का कहना है प्रतियोगिता में मशहूर खिलाड़ियों का जलवा देखने को मिलेगा, इनमें प्रमुख हैं- अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी, पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो और इंग्लैंड के वेन रूनी.

कई मशहूर खिलाड़ी घायल होने के कारण इस प्रतियोगिता से बाहर हैं. इनमें इंग्लैंड के कप्तान रियो फर्डिनेंड, डेविड बेकम, जर्मनी के कप्तान माइकल बलाक, घाना के माइकल एसियन और पुर्तगाल के नानी.

संबंधित समाचार