ब्राज़ील और उत्तर कोरिया के बीच मुक़ाबला

ब्राजील की टीम

मंगलवार को पहला मैच रस्टेनबर्ग में न्यूज़ीलैंड और स्लोवाकिया के बीच खेला जाएगा. दूसरा मैच पोर्ट एलिज़ाबेथ में आइवरी कोस्ट और पुर्तगाल के बीच खेला जाएगा. जबकि दिन का आख़िरी मैच ब्राज़ील और उत्तर कोरिया के बीच खेला जाएगा.

न्यूज़ीलैंड और स्लोवाकिया के बीच मैच को कम अहमियत दी जा रही है और कहा जा रहा है कि दोनों टीमों में इसके लिए संघर्ष होगा कि कौन टीम सबसे निचले पायदान पर रहती है. इस ग्रुप से विश्व चैम्पियन इटली और पराग्वे से आगे बढ़ने की ज़्यादा उम्मीद है. फिर भी खेल में कुछ भी हो सकता है.

दोनों टीमें प्ले ऑफ़ के तहत विश्व कप के लिए क्वालीफ़ाई हुई हैं. न्यूज़ीलैंड के कप्तान रयान नील्सन और कोच रिकी हर्बर्ट के लिए एक भी जीत बहुत मायने रखती है. क्योंकि 28 साल बाद टीम ने विश्व कप के लिए क्वालीफ़ाई किया है.

दूसरी ओर स्लोवाकिया विश्व कप में दूसरी सबसे निचली रैंकिंग की टीम है और उसके लिए भी एक जीत अच्छी यादों के साथ यहाँ से जाने का माध्यम बन सकती है.

आइवरी कोस्ट-पुर्तगाल

आइवरी कोस्ट और पुर्तगाल का मैच दिन का सबसे रोमांचक मैच माना जा रहा है. अगर द्रोगबा फ़िट हुए और मैदान पर उतरे तो उनका और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो का मुक़ाबला देखने लायक होगा.

एक अफ़्रीका की बेहतरीन टीम तो दूसरी पिछले विश्व कप के सेमी फ़ाइनल तक जाने वाली टीम. इंग्लैंड के कोच रह चुके स्वेन योरान इरिक्सन इस समय आइवरी कोस्ट के कोच हैं और उनका कहना है कि द्रोगबा के मामले पर आख़िरी क्षण में ही कोई फ़ैसला किया जाएगा.

पुर्तगाल के नानी भी घायल होने के कारण प्रतियोगिता से बाहर हो चुके हैं. लेकिन पुर्तगाल में कई स्टार खिलाड़ी हैं. रोनाल्डो के अलावा पुर्तगाल की टीम जिन खिलाड़ियों पर निर्भर करेगी, वे हैं- सिमाओ, डेको, टियागो, अल्मीडा, डैनी और मिग्वेल.

पुर्तगाल के कोच कार्लोस क्विरोज़ सिमाओ के फ़िटनेस को लेकर चिंतित ज़रूर हैं, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि सिमाओ फ़िट हो जाएँगे.

जबकि आइवरी कोस्ट में द्रोगबा के अलावा कालू टौरे, याया टौरे, एमानुएल एबोये, दिदिए ज़ोकोरा और सलोमन कालू जैसे खिलाड़ी हैं.

ब्राज़ील-उत्तर कोरिया

ग्रुप जी को ग्रुप ऑफ़ डेथ भी कहा जा रहा है क्योंकि इस ग्रुप से एक स्टार टीम आगे नहीं बढ़ पाएगी.

ब्राज़ील और उत्तर कोरिया के मैच पर भी लोगों की नज़र होगी. ब्राज़ील का ये पहला मैच होगा और इस मैच का प्रदर्शन ही उनके आगे का रास्ता बनाएगा.

विश्व कप के इतिहास की सबसे सफल टीम और इस समय दुनिया की नंबर वन टीम ब्राज़ील को प्रतियोगिता शुरू होने से काफ़ी पहले से ही ख़िताब का दावेदार माना जाता रहा है.

लेकिन उत्तर कोरिया की टीम को उलटफेर में माहिर टीम माना जाता है. उत्तर कोरिया का ये सिर्फ़ दूसरा विश्व कप है. इससे पहले टीम 1966 के विश्व कप में क्वालीफ़ाई हुई थी. उस विश्व कप में उत्तर कोरिया ने इटली को हराकर क्वार्टर फ़ाइनल में प्रवेश किया था. औऱ पुर्तगाल के ख़िलाफ़ मैच में एक समय टीम 3-0 से आगे थी. हालाँकि उत्तर कोरिया बाद में वो मैच 5-3 से हार गई.

उस प्रदर्शन को दोहराना उत्तर कोरिया के लिए आसान नहीं होगा. लेकिन टीम अपनी ओर से कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती. उसके सामने ब्राज़ील के काका, फ़ेबियानो, रॉबिन्हो, लूसिया, सिल्वा और एलानो जैसे खिलाड़ी होंगे.

संबंधित समाचार