पुर्तगाल-उत्तर कोरिया के बीच अहम मैच

Image caption पुर्तगाल को क्रिस्टियानो रोनाल्डो से काफ़ी उम्मीदें हैं

सोमवार को पहला मैच केपटाउन में पुर्तगाल और उत्तर कोरिया के बीच खेला जाएगा.

पुर्तगाल की टीम ने अपना पहला मैच आइवरी कोस्ट के ख़िलाफ़ ड्रॉ खेला था, तो उत्तर कोरिया की टीम ब्राज़ील के ख़िलाफ़ बहादुरीपूर्वक खेलते हुए हार गई थी.

पुर्तगाल का आख़िरी ग्रुप मैच पाँच बार की चैम्पियन ब्राज़ील की टीम से होना है. इसलिए पुर्तगाल किसी भी क़ीमत पर इस मैच को जीतकर अपनी बढ़त बनाना चाहेगी.

वर्ष 1966 के विश्व कप के क्वार्टर फ़ाइनल में दोनों टीमों की भिड़ंत हुई थी. और उस मैच में 24 मिनट के अंदर उत्तर कोरिया ने 3-0 की बढ़त हासिल कर ली थी.

लेकिन पुर्तगाल ने वापसी करते हुए ये मैच आख़िरकार 5-3 से जीत लिया था.

इस ग्रुप से अपनी जगह पक्की करने के लिए पुर्तगाल की ओर से क्रिस्टियानो रोनाल्डो को अच्छा प्रदर्शन करना पड़ेगा और उत्तर कोरिया को अच्छे अंतर से हराना भी होगा.

पुर्तगाल के कोच कार्लोस क्विरोज़ का कहना है कि उनकी टीम आक्रामक फ़ुटबॉल खेलेगी. लेकिन टीम के लिए बुरी ख़बर ये है कि डेको घायल होने के कारण मैच नहीं खेल पाएँगे.

उत्तर कोरिया की ओर से वही टीम उतारे जाने की संभावना है, जो ब्राज़ील के ख़िलाफ़ उतरी थी.

चिली-स्विट्ज़रलैंड भिड़ंत

दूसरा मैच पोर्ट एलिज़ाबेथ में चिली और स्विट्ज़रलैंड के बीच खेला जाएगा. दोनों ही टीमें अपने पहले मैच में जीत गई थी.

चिली ने जहाँ होंडूरास को मात दी थी, तो स्विट्ज़रलैंड ने ख़िताब की दावेदार टीम स्पेन को हराकर सनसनी फैला दी थी.

दोनों ही टीमें यह मैच जीतना चाहेंगी क्योंकि इस मैच में मिली जीत के बाद टीम दूसरे दौर में पहुँचने के काफ़ी क़रीब आ जाएगी.

स्विट्ज़रलैंड के कोच ओटमर हिट्ज़फ़ेल्ड ने स्पेन के ख़िलाफ़ मैच से पहले कहा था कि उनकी टीम फ़ेवरिट नहीं और उनकी टीम जीत गई थी.

इस मैच के भी पहले उनके कोच ने यही बात कही है. उन्होंने कहा है कि चिली की टीम फ़ेवरिट है.

लेकिन उनकी ये रणनीति इस बार काम आएगी या नहीं- देखने वाली बात होगी.

दूसरी ओर चिली ने होंडूरास को 1-0 से हराकर विश्व कप में अपनी पहली जीत दर्ज की थी.

मार्सेलो बिसला की टीम ने आक्रामक फ़ुटबॉल खेलकर सबका मन मोह लिया था.

स्विट्ज़रलैंड की टीम फिलिप सैंडेरॉस के बिना होगी, जो स्पेन के ख़िलाफ़ मैच के दौरान घायल हो गए थे.

लेकिन स्पेन के ख़िलाफ़ नहीं खेल पाए कप्तान एलेक्ज़ेंडर फ़्राई और मिडफ़ील्डर वेलॉम बेहरामी इस मैच के लिए उपलब्ध रहेंगे.

इस मैच में चिली की ओर से हम्बर्टो स्वाज़ो के मैच में खेलने की पूरी संभावना है. स्वाज़ो भी घायल हो गए थे.

दाँव पर स्पेन का क़द

दिन का आख़िरी मैच जोहानेसबर्ग के एलिस पार्क स्टेडियम में स्पेन और होंडूरास की टीमों के बीच होगा.

Image caption स्पेन को इस मैच में कुछ कर दिखाना होगा

दोनों ही टीमें अपना पहला मैच हार गई थी. स्पेन की टीम को चौंकाते हुए स्विट्ज़रलैंड ने मात दी थी, जबकि होंडूरास को चिली ने हराया था.

इस मैच में स्पेन का बहुत कुछ दाँव पर है. स्पेन की टीम किसी भी तरह ये मौक़ा हाथ से बाहर जाने नहीं देगी.

स्पेन की टीम चाहेगी कि वो यह मैच जीते और अच्छे अंतर से जीते. इससे न सिर्फ़ टीम का खोया हुआ मनोबल लौटेगा बल्कि दूसरे दौर में जाने की संभावना भी बढ़ेगी.

स्पेन के कोच मैच के शुरू में ही फ़र्नांडो टोरेस और डेविड विला को उतारेंगे. चोट से उबरते हुए इस मैच में सर्जियो रामोस और इनिएस्टा के भी खेलने की संभावना है.

स्विट्ज़रलैंड के ख़िलाफ़ मिली हार के बाद स्पेन की टीम को अपने देश में भी कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था. इसलिए इस मैच में टीम कुछ कर दिखाना होगा.

संबंधित समाचार