इंग्लैंड और अमरीका दूसरे दौर में

वेन रूनी
Image caption इंग्लैंड ने शानदार खेल का प्रदर्शन करके अंतिम 16 में जगह बनाई

विश्व कप में दूसरे दौर में पहुँचने वाली टीमों में यूरोपीय टीमों का खाता खुला. पहले इंग्लैंड और फिर जर्मनी की टीम ने दूसरे दौर में जगह बना ली है. साथ ही घाना की टीम दूसरे दौर में पहुँचने वाली पहली अफ़्रीकी टीम बनी, जबकि अमरीका ने सारे आकलनों को झुठलाते हुए अगले दौर में जगह बनाई.

इंग्लैंड की टीम सही समय पर फ़ॉर्म में लौटी और सही समय पर स्लोवेनिया के ख़िलाफ़ मिली जीत से इंग्लैंड की टीम ने नॉक आउट स्टेज में जगह बना ली है.

इंग्लैंड के साथ-साथ अमरीका भी दूसरे दौर के लिए क्वालीफ़ाई कर गया है. अमरीका ने भी एक अहम मैच में अल्जीरिया को मात दे दी. इसके साथ ही ग्रुप सी से स्लोवेनिया और अल्जीरिया की टीमें प्रतियोगिता से बाहर हो गई हैं.

इंग्लैंड का अच्छा प्रदर्शन

स्लोवेनिया के ख़िलाफ़ मैच में इंग्लैंड ने बेहतर प्रदर्शन किया और इस मैच से पहले एक मैच भी नहीं जीत पाई टीम ने संयम से खेल दिखाया. पिछले दिनों पूर्व कप्तान जॉन टेरी के बयान के बाद ऐसा लगा था कि इंग्लैंड की टीम में भी कुछ गड़बड़ है.

लेकिन फ़िलहाल टीम दूसरे दौर में जाने का जश्न मना रही है. इंग्लैंड की ओर से एकमात्र गोल जर्मेन डेफ़ो ने मैच के 22वें मिनट में किया.

इस गोल के साथ ही इंग्लिश कैंप में जश्न का माहौल हो गया. दूसरे हाफ़ में दोनों टीमों की ज़ोर-आज़माइश जारी रही. लेकिन इंग्लैंड की टीम 1-0 से जीत हासिल करने में सफल रही.

Image caption अमरीका की ओर से डोनोवान ने विजयी गोल किया

स्लोवेनिया की टीम दुर्भाग्यशाली रही. क्योंकि आख़िरी ग्रुप मैचों से पहले वो ग्रुप में शीर्ष पर थी. लेकिन अमरीका की अल्जीरिया पर जीत से समीकरण उसके ख़िलाफ़ चला गया और टीम बाहर हो गई.

अल्जीरिया और अमरीका के मैच में ज़बरदस्त रोमांच था. एक बार तो ऐसा लगा कि मैच ड्रॉ हो जाएगा और इस आधार पर स्लोवेनिया की टीम हारकर भी दूसरे दौर में पहुँच जाएगी.

लेकिन होना तो कुछ और था. मैच ख़त्म होने से कुछ पहले अमरीका का भाग्य बदल गया.

डोनोवैन की गोल की बदौलत अमरीका ने जीत हासिल की और ग्रुप में टॉप स्थान हासिल करके दूसरे दौर के लिए क्वालीफ़ाई किया.

हारकर भी अगले दौर में

जर्मनी और घाना के बीच मैच में मुक़ाबला ज़ोरदार रहा. घाना को गोल करने के कई बेहतरीन मौक़े मिले, लेकिन टीम उसका फ़ायदा नहीं उठा पाई. आख़िरकार दूसरे हाफ़ में जर्मनी की किस्मत चमकी और 60वें मिनट में ओज़िल बने टीम के संकटमोचक.

और ओज़िल के इसी एकमात्र गोल की बदौलत जर्मनी ने घाना के ख़िलाफ़ बाज़ी मारी और ग्रुप में टॉप पर रही.

दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया और सर्बिया का मुक़ाबला भी अच्छा हुआ. आख़िरकार ऑस्ट्रेलिया की टीम 2-1 से जीत गई लेकिन जर्मनी के हाथों पहले मैच में मिली 4-0 से हार उसके ख़िलाफ़ गई और चार अंक होने के बावजूद गोल अंतर के हिसाब से टीम घाना के बाद तीसरे नंबर पर रही.

तो अब अगले दौर में इंग्लैंड का मुक़ाबला जर्मनी से और घाना का मुक़ाबला अमरीका से होगा.

संबंधित समाचार