अर्जेंटीना की हार, स्पेन सेमीफ़ाइनल में

जर्मनी

फ़ुटबॉल विश्व कप के आख़िरी क्वार्टरफ़ाइनल मैच में स्पेन ने पराग्वे को एक-शून्य से मात दी है.

रोमांचक और संघर्षपूर्ण मैच में मिली इस जीत के बाद अब स्पेन सेमी फ़ाइनल में जर्मनी के सामने होगा. स्पेन के लिए एकमात्र गोल डेविड विया ने 82वें मिनट में किया.

इससे पहले दोनों टीमें पेनाल्टी करने से चूकीं. हांलाकि मैच में स्पेन ने गेंद को पराग्वे से अधिक देर तक कब्ज़े में रखा लेकिन पराग्वे ने डटकर स्पेन के हमले का सामना किया.

स्पेन को इस जीत के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी क्योंकि पराग्वे की सुरक्षा पंक्ति काफ़ी सजग थी.

अर्जेंटीना की हार

विश्व की नंबर एक टीम ब्राज़ील के विश्वकप से बाहर होने के बाद एक और बड़ी दावेदार टीम अर्जेंटीना भी विश्वकप से बाहर हो गई है.

तीसरे क्वार्टर फ़ाइनल मैच में जर्मनी ने अर्जेंटीना को शून्य के मुक़ाबले चार गोल से बुरी तरह पराजित किया.

विश्व कप में ये अर्जेंटीना की सबसे करारी हार में से एक है. इस पराजय से जहां अर्जेंटीना विश्वकप मुक़ाबलों से बाहर हुई वहीं कोच माराडोना का ख़्वाब भी चकनाचूर हो गया.

माराडोना की टीम अर्जेंटीना को ब्राज़ील की ही तरह विश्वकप की संभावित विजेताओं में से एक माना जा रहा था लेकिन जर्मनी की युवा टीम के सामने अर्जेंटीना की टीम कहीं टिक नहीं सकी.

मैच के तीसरे ही मिनट में जर्मनी के स्ट्राइकर मूलर ने गोल कर अर्जेटीना को बैकफ़ुट पर खड़ा कर दिया. इस तरह मूलर ने विश्व कप में अपना चौथा गोल किया.

Image caption क्लोज़ ने अपने 100वें मैच में दो गोल कर अर्जेंटीना को बाहर किया.

मूलर के गोल के बाद हाफ़ टाइम तक बराबरी का खेल रहा और अर्जेंटीना के खिलाड़ियों ने कई शानदार मूव बनाए लेकिन उसे गोल में बदलने में नाकाम रहे.

हालांकि अर्जेंटीना का गेंद पर क़ब्ज़ा 61 प्रतिशत रहा लेकिन वे गोल करने में असफल रहे.

दूसरा हाफ़

दूसरा हाफ़ शुरू हुआ तो अर्जेंटीना ने खेल पर हावी होने की पूरी कोशिश की लेकिन पलट हमले पर गोल करने के लिए मशहूर जर्मनी ने मैच के 67वें मिनट में एक और गोल कर मैच का स्कोर 2-0 कर दिया.

ये गोल अपना 100वां मैच खेल रहे अनुभवी खिलाड़ी क्लोज़ ने किया. ये गोल उनका 51वां गोल था. उन्होंने अपने इस 100 मैच को यादगार बनाया.

समय के साथ अर्जेंटीना के खिलाड़ियों में ताल-मेल खोने लगा और फिर सात मिनट बाद एक पलट हमले में जर्मनी ने तीसरा गोल कर अर्जेंटीना की रही सही उम्मीद भी तोड़ दी.

तीसरा गोल डिफ़ेंडर फ़्रे़ड्रिक ने किया, श्वेंस्टीगर के पास पर ये गोल बिलकुल आसान नज़र आया. रक्षापंक्ति जर्मनी के खिलाड़ियों को मार्क करने में नाकाम रही.

Image caption इस हार के साथ ही माराडोना का ख़्वाब चकनाचूर हुआ.

खेल ख़त्म होने से दो मिनट पहले क्लोज़ ने एक और गोल कर जर्मनी को 4-0 की बढ़त दिला दी.

जर्मनी ने अपना पहला मैच में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भी चार गोल दाग़ कर अपना अपना इरादा ज़ाहिर कर दिया था.

एक अन्य मैच में जर्मनी ने इंग्लैंड के विरुद्ध भी चार गोल दाग़े थे और अपने क्वार्टर फ़ाइनल मैच में चार गोल दाग़ कर जर्मनी विश्वकप जीतने वाली अब सबसे बड़ी दावेदार टीम बन गई है.

लेकिन विश्व का रोमांच अपनी जगह बरक़रार है क्यों कि कभी भी कुछ भी हो सकता है.

शुक्रवार को हुए क्वार्टर फ़ाइनल में ब्राज़ील को नीदरलैंड्स ने हरा दिया था जबकि घाना को उरुग्वे ने हरा कर सेमीफ़ाइनल में प्रवेश किया था.

स्पेन और पैराग्वे के बीच जीतने वाली टीम का सेमीफ़ाइनल में जर्मनी से मुक़ाबला होगा.

संबंधित समाचार