फुटबॉल विश्व कप फा़इनल मुक़ाबला शुरु

स्पेन और नीदरलैंड्स
Image caption सबकी निगाहें स्पेन के डेविड विला और नीदरलैंड्स के वेस्ले श्नाइडर पर

फ़ीफ़ा विश्व कप का फ़ाइनल मैच शुरु हो चुका है.

दक्षिण अफ़्रीक़ा में जोहानेसबर्ग के सॉकर सिटी स्टेडियम में यूरोपियन चैंपियन स्पेन और तीसरी बार फ़ाइनल में पहुंचे नीदरलैंड्स की टीमें आमने-सामने हैं.

नीदरलैंड्स ने सेमीफ़ाइनल में उरूग्वे के विरूद्ध उतरी अपनी टीम में दो परिवर्तन किए हैं, जबकि स्पेन ने जर्मनी को सेमीफ़ाइनल में हरानेवाली अपनी टीम में कोई बदलाव नहीं किया है.

इंग्लैंड के हावर्ड वेब मैच के रेफ़री हैं. इंग्लैंड में उनकी ख़ूब चर्चा है.

मैच शुरु होने से कुछ देर पहले दक्षिण अफ़्रीक़ा के राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा ने दोनों टीमों के खिलाड़ियों से हाथ मिलाया.

उससे पहले 2006 विश्व कप की विजेता इटली की टीम के कप्तान फ़ेबियो कनावारो फ़ीफ़ा विश्व कप को लेकर मैदान में आए. ये परंपरा पुराने चैंपियन को नए चैंपियन को विश्व कप थमाने के समान है.

समापन समारोह

मैच शुरु होने से पहले एक रंगारंग समापन समारोह हुआ.

शकीरा ने अपने गीतों और डांस से सबका दिल जीत लिया.

दक्षिण अफ़्रीक़ा के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला भी स्टेडियम में मौजूद थे लेकिन उन्होंने कोई भाषण नहीं दिया.

फ़ाइनल मैच के लिए जोहानेसबर्ग को दुल्हन की तरह सजाया गया है.

पूरे शहर में ज़बरदस्त रौनक़ है. हर तरफ चहल-पहल है, बाज़ार सजे हैं, दूकानों में स्पेन और नीदरलैंड्स के साथ-साथ मेज़बान दक्षिण अफ़्रीक़ा का झंडा भी लहरा रहा है.

फ़ीफ़ा ने विश्व कप के शानदार आयोजन के लिए दक्षिण अफ़्रीक़ा का शुक्रिया अदा किया. राष्ट्रपति जौकब ज़ूमा ने भी शायद इसीलिए कहा कि असली विजेता तो दक्षिण अफ़्रीक़ा की जनता है.

शनिवार शाम एक बयान में उन्होंने कहा, "जब हमने दक्षिण अफ़्रीक़ा में विश्व कप कराने का अधिकार हासिल किया था तो हम जानते थे कि एक साथ मिलकर काम करने से विश्व कप का सफल आयोजन हो सकेगा. अभी तक जिस तरह से इसका आयोजन हुआ है उससे हमारे प्रति उम्मीदें और बढ़ गई हैं."

Image caption पूरे शहर में स्पेन और नीदरलैंड्स के झंडे दिखाई दे रहे हैं

पहली बार किसी यूरोपीय देश से बाहर दो यूरोपीय देशों के बीच ख़िताब के लिए जंग हो रही है.जीतने वाली टीम विश्व फुटबॉल की आठंवी चैम्पियन होगी.

विश्व कप के इतिहास में अब तक कुल 12 देशों की टीमों ने फ़ाइनल तक का सफ़र तय किया है.

अब तक ब्राज़ील, इटली, जर्मनी, उरुग्वे, अर्जेंटीना, इंग्लैंड एवं फ़्रांस ने ख़िताब जीता है. इन देशों के अलावा चेकोस्लोवाकिया, स्वीडन और हंगरी की टीमें भी फ़ाइनल में पहुंच चुकी हैं.

स्पेन ने सेमीफ़ाइनल मुक़ाबले में जर्मनी को 1-0 से हराया था. दूसरी ओर, 32 वर्ष के बाद फ़ाइनल में जगह बनाने वाली नीदरलैंड्स की टीम ने सेमीफ़ाइनल में उरुग्वे को 3-2 से शिकस्त दी थी.

संबंधित समाचार