त्रिकोणीय सिरीज़: नए चेहरों को मौक़ा

ट्राइ सीरिज़ के कैप्टन
Image caption तीनों टीमों के कप्तान त्रिकोणीय सिरीज़ की ट्रॉफ़ी के साथ.

मंगलवार से श्रीलंका में भारत, न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका के बीच त्रिकोणीय श्रृंखला शुरु हो गई है.

इस सीरिज़ का पहला मैच मंगलवार दोपहर ढाई बजे भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच रंगिरी दांबुला इंटरनेशनल स्टेडियम में शुरू हुआ.

भारतीय टीम इस सिरीज़ में सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर, हरभजन सिंह और ज़हीर ख़ान के बिना उतर रही है. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी मानते हैं कि ये युवा खिलाड़ियों के लिए एक बढ़िया अवसर है.

धोनी ने कहा, "हमने पिछले कुछ महीनों में कई खिलाड़ियों को घायल होने के कारण खो दिया है. जिसकी वजह से हम कई नए खिलाड़ियों को मौक़ा दे पाए हैं. हम विश्व कप में 15 बढ़िया खिलाड़ियों को उतारना चाहते हैं लेकिन तब तक हमारे पास कुछ नए चेहरों को आज़माने का मौक़ा है."

युवाओं के लिए अवसर

धोनी ने कहा कि साल 2011 में भारतीय उपमहाद्वीप में होने वाले विश्व कप के मद्देनज़र भारतीय टीम अभिमन्यू मिथुन और आशिष नेहरा जैसे तेज़ गेंदबाज़ों को आज़माना चाहती है.

उधर न्यूज़ीलैंड की टीम भी कई स्टार खिलाड़ियों के बिना है. टीम की कप्तानी रॉस टेलर कर रहे हैं. टेलर कहते हैं कि ये सीरीज़ युवा खिलाड़ियों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होगी.

टेलर ने मैच से पहले कहा, "विश्व कप से पहले ये युवाओं के लिए एक अच्छा अवसर है. हमारे पास अंतिम 11 चुनने के लिए बीस खिलाड़ी हैं. इससे टीम में जगह के लिए अच्छा संघर्ष होगा. विश्व कप के मद्देनज़र ये एक अच्छी बात है."

इस त्रिकोणीय श्रृंखला का फ़ाइनल मुक़ाबला 28 अगस्त को होगा.

संबंधित समाचार