प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'खलती है सुविधाओं की कमी'

नई दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों के लिए तैयारी कर रहीं तीरंदाज़ डोला बनर्जी कहती हैं कि पहले खेल के उपकरणों की गुणवत्ता को लेकर दिक्कतें थीं मगर अब उन्हें भी विश्व स्तरीय उपकरण मिलते हैं. लेकिन वो कहती हैं कि तीर और धनुष अब भी ज़रुरत के हिसाब से कम हैं. जहाँ साल में तीन से चार दर्जन तीरों की ज़रुरत होती है, वहाँ सिर्फ़ एक दर्जन ही मिलते हैं.

इस सब के बावजूद डोला को उम्मीद है कि कुल आठ में से भारत कम से कम चार स्वर्ण पदक जीतेगा.