दाग़ी खिलाड़ी मौजूदा दौरे से बाहर

Image caption इस घटना से पाकिस्तान क्रिकेट पर फिर से उंगलियां उठने लगीं हैं.

पाकिस्तान टीम के मैनेजर ने कह दिया है कि कप्तान सलमान बट्ट समेत दो अन्य तेज़ गेंदबाज़ मौजूदा इंग्लैंड दौरे से बाहर रहेंगे.

टीम के मैनेजर यावर सईद ने कहा है कि बट्ट, तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर अब ट्वेंटी-ट्वेंटी और एक दिवसीय श्रृंखला से बाहर रहेंगे.

उन्होंने ये भी स्पष्ट किया, "इन खिलाड़ियों को अभी निलंबित नहीं किया गया है."

यावर सईद का कहना था, "अभी ट्वेंटी-ट्वेंटी टीम में 13 खिलाड़ी रहेंगे और फिर एक दिवसीय श्रृंखला के लिए तीन नए खिलाड़ी बुलाए जाएंगे जिससे कि कुल 16 खिलाड़ियों का दल पूरा रहे."

इस बीच लंदन में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर वाजिद शमसुल हसन ने पत्रकारों से कहा कि उनके लिए ये सभी खिलाड़ी तब तक बेकसूर रहेंगे जब तक उनपर लगे आरोप साबित नहीं हो जाते. उन्होंने ये भी कहा कि कार्रवाई करने का उनपर कोई दबाव नहीं है.

वाजिद शमसुल हसन ने कहा, " ये सभी खिलाड़ी युवा हैं, सट्टेबाज़ी की ख़बरों से उनके चरित्र पर दाग़ लगा है और उनका बचाव हम क़ानूनी अदालत में करेंगे. हम आरोपमुक्त ज़रूर होंगे."

बट्ट, तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर पर आरोप है कि उन्होंने पहले से तय ओवर और गेंद पर नो बॉल फेंका और इस जानकारी का सट्टेबाज़ों ने लाभ उठाया.

स्पॉट फ़िक्सिंग का ये आरोप इंग्लैंड के ख़िलाफ़ चौथे टेस्ट में सामने आया जब ब्रिटेन के न्यूज़ आफ़ दी वर्ल्ड अख़बार ने इसका भांडाफोड़ किया.

पाकिस्तान ये मैच हार गया था.

इस बीच कई और नामीगिरामी खिलाड़ियों ने उन खिलाड़ियों पर उम्र भर का प्रतिबंध लगाने की मांग की है जिनके ख़िलाफ़ आरोप साबित हो जाएं.

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वार्न का कहना था, "बहुत सरल तरीका है...यदि आरोप साबित हो जाएं इन्हें हमेशा के लिए बाहर कर देना चाहिए."

उनका कहना था कि पाकिस्तान टीम "कभी ठंडी कभी गर्म" टीम की तरह नज़र आती है.

वार्न का कहना था, "अचानक से लगता है कि ये टीम कितना अच्छा खेल रही है और पल भर में सबकुछ बदल जाता है. और हम देख रहे होते हैं कि ऐसा कैसे हो रहा है?"

उन्होंने कहा अक्सर ख़राब फ़ॉर्म की आड़ लेकर लोग निकल जाते हैं लेकिन अब ये समझा जा सकता है कि ये बड़ी साज़िश के लिए नकाब का काम करता है.

संबंधित समाचार