'भ्रष्टाचार सहन नहीं किया जाएगा' पवार

Image caption आइसीसी के अध्यक्ष ने दोषी पाए गए खिलाड़ियों के साथ सख़्ती बरतने का वादा किया

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल या आइसीसी के अध्यक्ष शरद पवार और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड या पीसीबी के अध्यक्ष एजाज़ बट्ट ने कहा है कि अगर कोई भी खिलाड़ी दोषी पाया गया तो उसके साथ सख़्ती बरती जाएगी.

आइसीसी ने स्पष्ट किया कि वो क्रिकेट में किसी तरह का भ्रष्टाचार सहन नहीं करेगा.

पवार ने कहा कि हाल के सट्टेबाज़ी कांड में अगर कोई खिलाड़ी दोषी पाया गया तो उसके ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

शरद पवार ने ये भी कहा कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर लगे आरोपों की जांच स्कॉटलैंड यार्ड कर रहा है जो जल्दी ही पूरी हो जाएगी.

पवार की बट्ट से भेंट

शरद पवार ने ये टिप्पणी पीसीबी के अध्यक्ष एजाज़ बट्ट के निवास पर उनसे भेंट करने के बाद पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए की.

उन्होने कहा, "जब तक स्कॉटलैंड यार्ड की जांच पूरी नहीं हो जाती इस विषय में कोई टिप्पणी कैसे की जा सकती है. लेकिन अगर आरोपों की पुष्टि हो जाती है तो हम सख़्त रवैय्या अपनाएंगे".

"अभी बस इतना कहा जा सकता है कि इन खिलाड़ियों पर आरोप हैं और हमने इसी आधार पर उन्हे निलम्बित कर दिया है".

आइसीसी अध्यक्ष ने कहा, "स्कॉटलैंड यार्ड ने उन्हे पाकिस्तान जाने की अनुमति दे दी है और पीसीबी ने वादा किया है कि जांचकर्ताओं के लिए वो हमेशा उपलब्ध रहेंगे. कोई आंख मिचौनी नहीं खेल रहा है".

शरद पवार ने इस मामले में किसी तरह षड़यंत्र से इंकार किया है.

उन्होने कहा, "इस पूरे प्रकरण में भारत की कोई भूमिका नहीं है".

पवार ने कहा कि सभी देश क्रिकेट की शुद्धता बनाए रखने में आइसीसी की मदद कर रहे हैं.

पीसीबी के अध्यक्ष एजाज़ बट्ट ने कहा कि पीसीबी आइसीसी के इस क़दम से नाराज़ नहीं है कि उसने कप्तान सलमान बट्ट, मोहम्मद आमेर और मोहम्मद आसिफ़ को निलम्बित किया.

उन्होने कहा, "हमने इन तीनों खिलाड़ियों के बारे में बात की है. स्कॉटलैंड यार्ड मामले की जांच कर रहा है. जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती तब तक न हम कोई टिप्पणी करेंगे और न ही आइसीसी".

संबंधित समाचार