न्यूज़ीलैंड ने अफ़सोस जताया

न्यूज़ीलैंड के एक टीवी शो पर दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के नाम का आपत्तिजनक उच्चारण करने को लेकर उठे विवाद के बाद न्यूज़ीलैंड के उच्चायुक्त ने गहरा अफ़सोस जताया है.

न्यूज़ीलैंड के एक टीवी एंकर पॉल हेनरी ने इस हफ़्ते एक कार्यक्रम के दौरान कई बार शीला दीक्षित के नाम के उच्चारण को लेकर कथित तौर पर ‘अपमानजनक’ टिप्पणियाँ की थीं.

बताया जा रहा है कि एंकर को निलंबित कर दिया गया है.

इस पूरे विवाद के बाद भारत के विदेश मंत्रालय ने न्यूज़ीलैंड के उच्चायुक्त रूपर्ट होलबोरो को तलब किया था जिसके बाद उच्चायुक्त ने कहा कि उन्हें इस घटना का बेहद अफ़सोस है.

एक प्रेस विज्ञप्ति में रूपर्ट होलबोरो ने कहा है, “मीडियाकर्मी के बयान से जो लोग आहत हुए हैं उसके लिए मुझे अफ़सोस हैं. मीडियाकर्मी का बयान असंवेदनशील, ग़लत और अभद्र है और ये न्यूज़ीलैंड सरकार के विचारों को नहीं दर्शाता. राष्ट्रमंडल खेलों में दिल्ली की मुख्यमंत्री का अहम योगदान रहा है.”

वहीं भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि ये टिप्पणी बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है. विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है, “भारत सरकार न्यूज़ीलैंड के पत्रकार के नस्लभेदी बयान की भर्त्सना करता है. ये हैरत की बात है कि ऐसा बयान न्यूज़ीलैंड जैसे लोकतांत्रिक देश के एक टीवी चैनल पर दिखाया गया है. सभी देशों को ऐसी टिप्पणी की निंदा करनी चाहिए.”

इस बारे में टाइम्स ऑफ़ इंडिया अख़बार से बातचीत में दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा है कि वे इतनी व्यस्त हैं कि ये बात उनकी नज़र में नहीं आईं.

फिर बाद में एक टीवी चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा, "इस तरह की बातों से हमें कोई फ़र्क नहीं पड़ता."

न्यूज़ीलैंड के उच्चायुक्त ने कहा है कि ये मामला न्यूज़ीलैंड सरकार के साथ उठाया जाएगा.

संबंधित समाचार