निशानेबाज़ी में स्वर्ण का मौका

Image caption भारतीय निशानेबाज़ी टीम में खिलाड़ियों के पास मौका है और पदक जीतने का

एशियाई खेलों में भारत के पास सोमवार को एक बार फिर निशानेबाज़ी में स्वर्ण पदक लेने के कुछ मौक़े होंगे.

निशानेबाज़ी में आठ स्वर्ण पदकों का फ़ैसला होना है और भारतीय निशानेबाज़ इनमें से छह पदकों की होड़ में शामिल हैं.

पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फ़ायर पिस्टल में गुरप्रीत सिंह, विजय कुमार और राहुल की टीम होगी तो 50 मीटर राइफ़ल प्रोन में हरिओम सिंह, सुरेंद्र राठौर और गगन नारंग की टीम उतरेगी. ये सभी टीम और व्यक्तिगत स्पर्धा में पदक के दावेदार हैं.

इसी तरह महिलाओं के 50 मीटर राइफ़ल प्रोन में तेजस्विनी सावंत, लज्जाकुमारी गोस्वामी और मीना पदकों पर निशाना लगाएँगी.

तैराकी में पुरुषों की 50 मीटर फ़्रीस्टाइल में अर्जुन जयप्रकाश और वीरधवल खाड़े होंगे तो 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में संदीप सेजवाल.

रोहित राज हवलदार और रेहान जहाँगीर पोंचा 200 मीटर बैकस्ट्रोक मुक़ाबले में जाएँगे. भारतीय टीम चार गुणा 200 मीटर फ़्रीस्टाइल में भी उतरेगी.

टेनिस में भारतीय पुरुष टीम शीर्ष वरीयता प्राप्त चीनी ताइपे की टीम से सेमीफ़ाइनल में खेलेगी. टूर्नामेंट में भारतीय टीम की चौथी वरीयता है.

टेबल टेनिस के व्यक्तिगत और मिश्रित युगल मुक़ाबलों में भी भारतीय खिलाड़ी मैदान में होंगे.

शतरंज में एकल के पाँचवें दौर के मुक़ाबलों में पुरुष वर्ग में कृष्णन शशिकिरण, सूर्य शेखर गांगुली होंगे तो महिलाओं के वर्ग में द्रोणावली हरिका और तानिया सचदेव.

पुरुषों के 69 किलोग्राम वर्ग भारोत्तोलन में भारत के रवि कुमार भी पदक लाने के लिए ज़ोर लगाएँगे.

संबंधित समाचार