एशियाड के तीसरे दिन निराशा

निशानेबाज़ी
Image caption एशियाड के तीसरे दिन भारती निशानेबाज़ों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है

एशियाई खेलों का तीसरा दिन भारत के लिए काफ़ी निराशाजनक रहा है जबकि उसे सिर्फ़ एक रजत और एक काँस्य पदक ही मिला.

निशानेबाज़ों से भारत की उम्मीदें पूरी नहीं हो रही हैं, सोमवार को तो भारत निशानेबाज़ी में कोई भी पदक नहीं जीत सका. आठ में से पाँच स्वर्ण पर चीन का और तीन पर दक्षिण कोरिया का क़ब्ज़ा हुआ.

पुरुषों के 50 मीटर राइफ़ल प्रोन में भारतीय टीम पाँचवें स्थान पर रही और व्यक्तिगत रूप से हरिओम सिंह 13वें, गगन नारंग 24वें और सुरेंद्र सिंह राठौड़ 27वें स्थान पर.

महिलाओं के इसी वर्ग में तेजस्विनी सावंत 11वें, मीना 14वें और लज्जाकुमारी गोस्वामी 16वें स्थान पर रहीं.

पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फ़ायर पिस्टल स्पर्द्धा में भारतीय टीम चौथे स्थान पर आई. भारत के राहुल 10वें, गुरप्रीत सिंह 11वें और विजय कुमार 17वें स्थान पर रहे.

टेनिस की टीम स्पर्द्धा में भारत का मुक़ाबला सेमीफ़ाइनल में चीनी ताइपे से था. महेश भूपति और लिएंडर पेस की ग़ैर-मौजूदगी में भारतीय टीम काफ़ी कमज़ोर सी स्थिति में दिखी.

पहले मैच में सनम कुमार सिंह को सुंग हुआ यांग से 7-6, 2-6, 6-7 से हार मिली. उसके बाद सोमदेव देववर्मन् ने अपना मैच ती चेन के विरुद्ध 6-2, 7-6 से जीत लिया.

अंतिम मैच युगल मुक़ाबला था जहाँ सनम और सोमदेव की जोड़ी को सुंग हुआ यांग और यू हुआन यी की जोड़ी ने 6-4, 7-6 से हराया.

सेमीफ़ाइनल में मिली इस हार का मतलब ये हुआ कि भारत को काँस्य पदक दिया जाएगा.

भारत ने बिलियर्ड्स में टीम मुक़ाबले में आज सेमीफ़ाइनल में दिन में पाकिस्तान को हराया मगर फ़ाइनल में उसे चीन से हार मिली और रजत पदक ही हासिल हुआ.

पुरुष हॉकी में ग्रुप बी के पहले मैच में भारत ने हॉन्गकॉन्ग को 7-0 से हरा दिया.

भारोत्तोलन में पुरुषों के 69 किलोग्राम वर्ग में भारत के रवि कुमार पाँचवें स्थान पर रहे.

पुरुषों की 50 मीटर फ़्रीस्टाइल तैराकी में भारत के वीरधवल खाड़े .03 सेकेंड्स के अंतर से चौथे स्थान पर आए.

इस तरह खेलों के तीसरे दिन की समाप्ति पर भारत एक स्वर्ण, चार रजत और तीन काँस्य के साथ पदक तालिका में सातवें स्थान पर है.

चीन का वर्चस्व अधिकतर खेलों में बरक़रार है. उसने खेलों के तीसरे ही दिन स्वर्ण पदकों की संख्या 50 के पार कर ली है.

तैराकी में सात में से पाँच स्वर्ण पदक उसे मिले, हालाँकि पुरुषों की 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्द्धा में चार बार के ओलंपिक विजेता जापान के कोसुके किताजीमा चौथे स्थान पर ही रह गए.

भारोत्तोलन में पुरुषों के 69 किलोग्राम वर्ग में उत्तर कोरिया के किम कुम सोक और ईरान के मुर्तज़ा रज़ाइ दोनों ने कुल 324 किलोग्राम वज़न उठाया था मगर किम का शारीरिक वज़न कम होने की वजह से स्वर्ण उन्हें दिया गया.

चीन की महिलाओं और पुरुषों ने बैडमिंटन में टीम का स्वर्ण पदक जीत लिया है. उधर जूडो में जापान और दक्षिण कोरिया ने अब तक दिए गए 12 स्वर्णों में से छह-छह पर क़ब्ज़ा किया है.

संबंधित समाचार