भारत को तीन और स्वर्ण

विकास कृष्ण

भारत ने दोहा एशियाई खेलों के 10 स्वर्ण पदकों और कुल 53 पदकों की बराबरी कर ली है जबकि गुरुवार को एथलेटिक्स में दो और मुक्केबाज़ी में उसे एक स्वर्ण पदक हासिल हुआ.

एथलेटिक्स में भारत को पहला स्वर्ण मिला महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ में जबकि अश्विनी चिदानंद अक्कुनजी ने 56.15 सेकेंड में ये दूरी पूरी की.

जीत के बाद उन्होंने कहा, “क्वालीफ़िकेशन दौर के बाद ये तो उम्मीद थी कि जीतूँगी लेकिन स्वर्ण जीतूँगी ये नहीं सोचा था. स्वर्ण जीतकर बेहद ख़ुशी हो रही है.”

उधर पुरुषों की 400 मीटर बाधा दौड़ में भी भारत को पहली बार स्वर्ण पदक मिला जबकि जोसेफ़ अब्राहम ने 49.96 सेकेंड के साथ सबसे आगे रहे.

जोसेफ़ का कहना था, “मेरे ऊपर किसी को भरोसा नहीं था. बस मुझे और मेरे कोच को उम्मीद थी कि पदक आएगा.”

एथलेटिक्स में भारत को 800 मीटर दौड़ में टिंटू लूका से पदक की उम्मीद थी और वो पूरी हुई काँस्य के रूप में. टिंटू को उड़नपरी पीटी उषा ने प्रशिक्षित किया है और टिंटू की उस रेस के दौरान वो भी वहाँ मौजूद थीं.

मुक्केबाज़ी में स्वर्ण

इसके अलावा मुक्केबाज़ी में भारत के विकास कृष्ण ने स्वर्ण पदक जीत लिया जबकि उन्होंने स्थानीय लोगों के ज़बरदस्त शोर के बीच चीनी मुक्केबाज़ हू चिंग को हरा दिया.

Image caption जोसेफ़ अब्राहम ने भी गोल्ड जीता

हालाँकि 81 किलोग्राम वर्ग में दिनेश कुमार उज़बेकिस्तान के एलशोद रसूलोव से हार गए और उन्हें रजत मिला.

इससे पहले भारत को पुरुष हॉकी में काँस्य पदक मिला. इस पदक के लिए भारत का मुक़ाबला दक्षिण कोरिया से था और भारत ने 1-0 से वो मैच जीत लिया.

गोल तुषार खांडेकर ने किया. लेकिन टीम के चेहरे पर एक अफ़सोस था कि फ़ाइनल में नहीं पहुँच सके.

हॉकी का स्वर्ण मिला पाकिस्तान को जिसने फ़ाइनल में मलेशिया को 2-0 से हरा दिया. इसके साथ ही टीम ने लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफ़ाइ कर लिया है.

लेकिन पाकिस्तान को एक बड़ा झटका भी लगा क्रिकेट में, जहाँ अफ़ग़ानिस्तान ने उसे सेमीफ़ाइनल में 22 रनों से हरा दिया अब अफ़ग़ानिस्तान का मुक़ाबला फ़ाइनल में बांग्लादेश से होगा.

भारत को कुश्ती में फिर काँस्य से ही संतोष करना पड़ा क्योंकि मौसम खत्री फ़्री-स्टाइल कुश्ती के 96 किलोग्राम वर्ग में सेमीफ़ाइनल में हार गए.

उसके बाद उन्होंने काँस्य पदक के लिए हुआ मुक़ाबला जीत लिया.

राजीव तोमर 120 किलोग्राम वर्ग में और निर्मला देवी 48 किलोग्राम वर्ग में हार गए. कबड्डी में भारतीय पुरुष और महिला दोनों ही टीमें फ़ाइनल में पहुँच गई हैं.

संबंधित समाचार