रूस और क़तर करेंगे विश्व कप की मेज़बानी

क़तर के अमीर

अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल संस्था फ़ीफ़ा ने 2018 और 2022 में होने वाले विश्व कप के मेज़बान देशों की घोषणा कर दी है.

वर्ष 2018 के फ़ुटबॉल विश्व कप की मेज़बानी रूस करेगा जबकि 2022 में ये मौका क़तर को मिलेगा. ये घोषणा फ़ीफ़ा अध्यक्ष ने ज्यूरिख़ शहर में की.

ज़्यादातर देशों के राष्ट्र अध्यक्ष अपने-अपने देशों की निविदा को और मज़ूबत करने के लिए ज़्यूरिख आए थे लेकिन रूस के प्रधानमंत्री पुतिन यहाँ नहीं पहुँचे थे.

फ़ीफ़ा में भ्रष्टाचार के आरोपों पर पुतिन ये कहते आए हैं कि फ़ीफ़ा ग़लत प्रचार का शिकार हुआ है और उसे अपना काम करने देने चाहिए.

हालांकि पुतिन के प्रवक्ता ने कहा था कि अगर अगर रूस जीतता है तो वे फ़ीफ़ा के मुख्यालय जाने के लिए तैयार हैं.

दावेदार

फ़ीफ़ा के सदस्यों ने गुरुवार को मेज़बानी को लेकर मतदान किया था. इसके लिए नौ देशों ने निविदा डाली थी.

2018 में होने वाले वर्ल्ड कप की मेज़बानी के लिए नीदरलैंड-बेल्जियम, स्पेन-पुर्तगाल, रूस और इंग्लैंड के बीच होड़ थी.

2022 के लिए अमरीका, ऑस्ट्रेलिया, जापान, दक्षिण कोरिया और क़तर सरीखे देशों ने निविदा डाली थी. मतदान स्विट्ज़रलैंड के शहर ज़्यूरिख़ में हुआ.

2018 में होने वाले वर्ल्ड कप की मेज़बानी के प्रतियोगी देशों के पास फ़ीफ़ा की 22 सदस्यीय टीम को राज़ी करने के लिए 30 मिनट का समय था.

दोनों ही वर्ल्ड कप के लिए मतदान गुप्त तरीके से हुआ.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.