वनडे की सर्वश्रेष्ठ टीम में सचिन और कपिल

Image caption लोगों ने सहवाग और सचिन को सर्वश्रेष्ठ सलामी जोड़ी चुना है

दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों ने सचिन तेंदुलकर और वीरेंदर सहवाग को एकदिवसीय क्रिकेट की आज तक की सर्वश्रेष्ठ सलामी जोड़ी चुना है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने एकदिवसीय क्रिकेट की चालीसवीं वर्षगाँठ पर बुधवार को आज तक की सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय टीम घोषित की.

इस सूची में ऑस्ट्रेलिया और भारत के तीन-तीन, वेस्ट इंडीज़ के दो और दक्षिण अफ़्रीका, श्रीलंका और पाकिस्तान का एक-एक खिलाड़ी शामिल है.

भारत की ओर से तीसरा नाम कपिल देव का है, जिन्हें लोगों ने अब तक का सबसे अच्छा ऑलराउंडर चुना.

आईसीसी की वेबसाइट पर 97 देशों के लगभग छह लाख लोगों ने राय रखी और उन लोगों के मुताबिक़ 2006 में जोहानेसबर्ग में दक्षिण अफ़्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ वो वनडे मैच आज तक का सबसे अच्छा वनडे था जिसमें 438 रन बनाकर दक्षिण अफ़्रीका ने जीत हासिल की थी.

लोगों की ओर से चुनी गई वनडे टीम में मध्य क्रम में वेस्टइंडीज़ के ब्रायन लारा और विवियन रिचर्ड्स को ऑस्ट्रेलियाई रिकी पॉन्टिंग के साथ जगह मिली है.

लोगों ने विकेटकीपर के तौर पर ऑस्ट्रेलियाई एडम गिलक्रिस्ट को चुना तो स्पिनर मुथैया मुरलीधरन रहे.

पाकिस्तान के वसीम अकरम, ऑस्ट्रेलियाई ग्लेन मैक्ग्रा और दक्षिण अफ़्रीकी एलन डोनल्ड तेज़ गेंदबाज़ के रूप में लोगों की पसंद रहे.

जोहानेसबर्ग में सर्वश्रेष्ठ वनडे

इस टीम में 12वें खिलाड़ी के तौर पर ऑस्ट्रेलियाई माइकल बेवन को चुना गया है जिन्हें काफ़ी वोट मिले मगर वो इतने नहीं थे कि वे पहले 11 खिलाड़ियों में शामिल हो पाते.

आईसीसी ने वेबसाइट पर 48 खिलाड़ियों की एक सूची रखी थी और उसमें से प्रशंसकों को अपनी पसंद के 11 खिलाड़ी चुनने थे.

लोगों के पास आज तक का सबसे रोमाँचक वनडे मैच चुनने का मौक़ा भी था और रनों की बौछार वाला 2006 का दक्षिण अफ़्रीका और ऑस्ट्रेलिया वाला मैच लोगों की पसंद रहा.

उस मैच में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट के नुक़सान पर 434 रन बनाए थे जिसमें कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने सिर्फ़ 105 गेंदों पर 164 रन ठोंक दिए थे.

उसके बाद जवाबी पारी में जब दक्षिण अफ़्रीका का पहला विकेट सिर्फ़ तीन रनों के ही स्कोर पर गिर गया था तो लोगों ने उम्मीद छोड़ ही दी थी मगर फिर 111 गेंदों में 175 रनों की हर्शल गिब्स की और 55 गेंदों पर 90 रनों की ग्रीम स्मिथ की पारी ने मैच का रुख़ मोड़ दिया.

लोगों को उम्मीद नहीं थी कि इतने बड़े स्कोर का ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण का मुक़ाबला करते हुए पीछा किया जा सकता है मगर दक्षिण अफ़्रीका ने एक विकेट और एक गेंद बाक़ी रहते वो मैच जीत लिया.

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पाँच जनवरी 1971 को मेलबर्न क्रिकेट मैदान पर पहला एकदिवसीय मैच खेला गया था और उसे याद करते हुए आईसीसी ने ये वोटिंग करवाई है.

संबंधित समाचार