सीबीआई ने दस ठिकानों पर मारे छापे

राष्ट्रमंडल खेल
Image caption राष्ट्रमंडल खेलों में हुई कथित धांधली के लिए तीन अधिकारी पहले से ही जेल में हैं

राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान हुई कथित धांधली की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को दिल्ली के आसपास के इलाक़ों में दस स्थानों पर छापे मारे.

खेलों के आयोजन के लिए सामान की आपू्त्ति के लिए दिए गए ठेकों में हुई धांधली के सिलसिले में ये छापे मारे गए.

सीबीआई ने केंद्रीय खेल मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले एक दफ़्तर पर भी छापा मारा.

इसी सिलसिले में सीबीआई ने राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति के महानिदेशक वीके वर्मा के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज किया है.

मामला

इससे पहले सीबीआई ने राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी से नौ घटे तक पूछताछ की थी.

वीके वर्मा कलमाडी के क़रीबी माने जाते हैं.

सीबीआई ने वीके वर्मा के ख़िलाफ़ आपराधिक षड़यंत्र, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार निरोधक क़ानून के तहत मामला दर्ज किया है.

वीके वर्मा और राष्ट्रमंडल खेलों के महासचिव ललित भनोट का नाम तीसरी एफ़आईआर में भी है.

इन दोनों का नाम 107 करोड़ रूपए के स्विस टाईम किपिंग मशीन के ठेके में हुई धांधली के सिलसिले में दर्ज किया गया है.

इससे पहले भनोट से सीबीआई ने खेल संबंधित परियोजनाओं में हुई अनियमितताओं के संबंध में पूछताछ भी की थी.

राष्ट्रमंडल खेलों के लिए दिए गए ठेकों में कथित रुप से 600 करोड़ रूपए की धांधली हुई है जिसकी जांच की जा रही है.

संबंधित समाचार