पाक खिलाड़ियों के खिलाफ़ जांच शुरु

पाकिस्तानी खिलाड़ी

पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर लगे मैच फिक्सिंग के आरापों को लेकर गुरुवार से दोहा में जांच शुरु हो गई है. जांच की यह प्रकिया छह दिन तक चलेगी.

इस जांच के दौरान पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान सलमान बट्ट, तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ और मोहम्मद आमिर आईसीसी की ओर से बनाए गए एक ट्रिब्यूनल के सामने पेश हो रहे हैं.

इन खिलाड़ियों पर है आरोप है कि उन्होंने पहले से तय ओवर और गेंद पर नो बॉल फेंका और इस जानकारी का सट्टेबाज़ों ने लाभ उठाया.

स्पॉट फ़िक्सिंग का यह आरोप इंग्लैंड के ख़िलाफ़ चौथे टेस्ट में सामने आया जब ब्रिटेन के अख़बार ‘न्यूज़ आफ़ द वर्ल्ड’ ने इसका भांडाफोड़ किया. पाकिस्तान ये मैच हार गया था.

सबसे गंभीर आरोप

तीनों खिलाड़ी इन आरोपों का खंडन कर चुके हैं.

आईसीसी के इस भ्रष्टाचार विरोधी ट्रिब्यूनल का नेतृत्व ब्रिटेन के प्रमुख बैरिस्टर माइकल बेलॉफ कर रहे हैं.

जांच के दौरान इन खिलाड़ियों से अपना पक्ष रखने को कहा जाएगा. इस बचाव के बावजूद अगर उन्हें दोषी पाया जाता है तो उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया जाएगा.

क्रिकेट के इतिहास में ये भ्रष्टाचार और मैच फ़िक्सिंग के अब तक के सबसे गंभीर आरोप हैं.

इससे पहले सन् 2000 की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए पर घूस लेकर मैच के दौरान हेरफेर करने के आरोप लगे थे.

संबंधित समाचार