टॉस की होगी बड़ी भूमिका: स्मिथ

दक्षिण अफ़्रीका में धोनी और उनके धुरंधर आज उस चोटी पर पहुंचने की कोशिश करेंगे जहां आजतक कोई भारतीय टीम नहीं पहुंच पाई है.

दक्षिण अफ़्रीका की ज़मीन पर भारत आज तक कोई एक दिवसीय श्रृंखला नहीं जीत पाया है.

पिछले दो मैचों में जीत हासिल कर 2-1 की बढ़त ले चुकी टीम आज पोर्ट एलिज़ाबेथ में हर कोशिश करेगी निर्णायक जीत हासिल करने की.

वहीं ग्रैम स्मिथ भी श्रृंखला में दोबारा वापसी के लिए जी जान लगाएंगे इसमें कोई शक नहीं है.

भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी अभी तक कुछ ख़ास झंडे नहीं गाड़ पाई है.

केपटाउन के मैच में भी यूसुफ़ पठान के 50 गेंदों में बनाए गए 59 रनों ने जान बचाई नहीं तो मैच निकलता ही नज़र आ रहा था.

उच्च क्रम के तीन बल्लेबाज़ सचिन, सहवाग और गंभीर पहले से चोटग्रस्त होकर बाहर हैं.

सलामी जोड़ी रोहित शर्मा और मुरली विजय को और जमकर खेलना होगा और एक ठोस नींव रखनी होगी.

मध्यक्रम के बल्लेबाज़ भी अच्छी शुरूआत करने के बाद अपना विकेट आसानी से गंवा दे रहे हैं और कप्तान धोनी के लिए ये चिंता का विषय होगा.

गेंदबाज़ी

Image caption दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान ग्रैम स्मिथ का कहना है कि टॉस की बड़ी भूमिका होगी.

कप्तान धोनी के लिए जो अच्छी ख़बर है वो है गेंदबाज़ी और क्षेत्ररक्षण.

केपटाउन के मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने कुछ बेहद ही अच्छे कैच लपके और दक्षिम अफ़्रीका की पारी को 220 पर ही समेटने में कामयाब रहे.

ज़हीर और मुनाफ़ पटेल की गेंदबाज़ी भी सधी हुई रही है और हरभजन सिंह के स्पिन का जादू भी चला है.

दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान ग्रैम स्मिथ ने भी भज्जी की गेंदबाज़ी की तारीफ़ करते हुए कहा, “हरभजन ने बेहद अच्छी गेंदबाज़ी की है और उन्हें विकेट से भी मदद मिली है.”

टॉस अहम

कप्तान स्मिथ का कहना था कि पिछले दोनों मैचों में उनकी टीम जीत के दरवाज़े पर थी लेकिन वो ऐन मौके पर चूक गए.

स्मिथ ने कहा है कि शुक्रवार के मैच में टॉस की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है.

उनका कहना था, “यहां रोशनी उतनी अच्छी नहीं होती है और इसलिए टॉस हमेशा से बड़ी भूमिका निभाता है लेकिन कई बार टीमें यहां पीछा करते हुए भी जीती हैं.”

संबंधित समाचार