जिता नहीं पाई पठान की पारी

हाशिम अमला
Image caption हाशिम अमला ने अपना सातवाँ वनडे शतक बनाया

सेंचुरियन में हुए आख़िरी वनडे में सब कुछ था- बल्ले का कमाल, खिलाड़ियों का धमाल, ड्रामा और एक्शन भी, लेकिन आख़िरकार भारत के लिए ये मैच ट्रेजिडी साबित हुई.

हार के कगार से जीत के पास पहुँचकर भी भारत मैच हार गया और इसी के साथ सिरीज़ भी उसके हाथों से निकल गई.

भारत की ओर से युसूफ़ पठान की धमाकेदार पारी मैच का आकर्षण रही, जिन्होंने एक बार तो भारत को जीत के काफ़ी क़रीब तक पहुँचा दिया.

बारिश से प्रभावित इस मैच में दक्षिण अफ़्रीका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 46 ओवर में नौ विकेट पर 250 रन बनाए थे. लेकिन डकवर्थ लुईस नियम के तहत भारत को 46 ओवरों में 268 रन बनाने का लक्ष्य मिला.

अमला की बेहतरीन पारी

भारत की ओर से यूसुफ़ पठान ने पारी को संभाला और उन्होंने शानदार शतक लगाया. लेकिन 105 के स्कोर पर उनके आउट होते ही भारतीय पारी सिमट गई.

Image caption पठान का शानदार शतक काम न आया

उनके अलावा कोई अन्य भारतीय खिलाड़ी विकेट पर नहीं टिक पाया. दक्षिण अफ्रीका की ओर से जीत के हीरो रहे हाशिम अमला. उन्होंने नाबाद 116 रनों का योगदान दिया. अमला ने अपने 42वें मैच में सातवां वनडे शतक बनाया.

भारत की ओर से पार्थिव पटेल और रोहित शर्मा ने पारी की शुरुआत की. लेकिन चौथे ही ओवर में 21 रनों के कुल योग पर तेज गेंदबाज लोनवाबो त्सोत्सोबे ने रोहित शर्मा को क्लीन बोल्ड कर भारत को पहला झटका दिया.

रोहित शर्मा ने आठ गेंदों का सामना किया और एक चौके की मदद से पाँच रन बनाए. इसके बाद बल्लेबाजी करने आए विराट कोहली भी सातवें ओवर की पहली गेंद पर आउट हो गए. उन्होंने मात्र दो रन बनाए, तेज गेंदबाज़ मर्कल की गेंद पर विकेटकीपर डिविलियर्स ने उन्हें कैच आउट कर दिया.

इससे पहले भारतीय टीम ने बारिश के बाद शानदार वापसी करते हुए दक्षिण अफ्रीका के 24 रन के अंदर छह विकेट ले लिए थे. बावजूद इसके दक्षिण अफ्रीका की टीम 46 ओवरों में नौ विकेट गंवाकर 250 रन बनाने में सफल रही.

भारत की ओर से मुनाफ़ पटेल 50 रन देकर तीन विकेट और जहीर ख़ान ने 47 रन देकर दो विकेट लिए.

संबंधित समाचार