बीबीसी फन एंड गेम्स

सचिन तेंदुलकर इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption सचिन कहते हैं कि इंसान को किसी बात का घमंड नहीं करना चाहिए

सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के बेहतरीन खिलाडी हैं. उनके नाम एक नहीं कई रिकॉर्ड हैं. लेकिन फिर भी सचिन को किसी बात का घमंड नहीं है.

सचिन कहते हैं कि उनके पिताजी हमेशा उनसे कहते थे कि इंसान को ज़मीन से जुड़ा और विनम्र रहना चाहिए. अगर आप ऐसा करोगे तो फिर चाहे आप रन बनाओ या न बनाओ, लोग आपकी हमेशा इज्ज़त करेंगे.

बीबीसी फन एंड गेम्स के इस अंक में आप सचिन को सुन सकते हैं जो अपने पिता को याद करते हुए कहते हैं कि उनके पिता की कमी उन्हें हमेशा खलती है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

लेकिन साथ ही वो ये भी कहते हैं कि उनके पिता रमेश तेंदुलकर हमेशा उनके साथ हैं और उनका मार्गदर्शन करते हैं. सचिन के पिता का निधन 1999 में हुआ था.

सचिन कहते हैं वो वक़्त उनके पुरे परिवार के लिए बड़ा कठिन था. लेकिन उस वक़्त उनकी माँ ने उन्हें संभाला और उनकी ताकत बनी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सचिन के नाम एक नहीं कई रिकॉर्ड हैं

सचिन कहते हैं कि उनकी माँ ने उनसे कहा कि उनके पिता चाहते थे की वो हमेशा क्रिकेट खेलें और देश का नाम रोशन करें.

कार्यक्रम में आप सचिन को अपने बेटे अर्जुन के बारे में भी बात करते सुन सकते हैं. सचिन कहते हैं कि वो चाहते हैं की अर्जुन ज़िन्दगी में जो करना चाहता हैं वो करें, सचिन खुद उन पर किसी तरह का दबाव नहीं डालेंगे.

सचिन के साथ साथ बीबीसी फन एंड गेम्स में इस सप्ताह बात हो रही है हाल ही में पदम् श्री से नवाज़े गए पहलवान सुशिल कुमार से.

सुशील कहते हैं की उनकी इस उपलब्धि का श्रेय उनके गुरु सतपाल को जाता है. सुशील ये भी कहते हैं की अब उनका लक्ष्य 2012 में लन्दन में होने वाले ओलिम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने का है.

संबंधित समाचार