पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर प्रतिबंध

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के ट्राब्यूनल ने पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों को भ्रष्टाचार का दोषी पाते हुए उन पर प्रतिबंध लगा दिया है.

सलमान बट्ट पर 10 साल की पाबंदी लगाई गई है जिसमें से पाँच साल की निलंबित सज़ा है. मोहम्मद आसिफ़ पर सात साल का प्रतिबंध लगाया गया है जबकि मोहम्मद आमिर पर पाँच साल की पाबंदी है.

पिछले साल अगस्त में लॉर्डस मैच के दौरान तीनों खिलाड़ियों पर स्पॉट फ़िक्सिंग का आरोप लगाया गया था.

आरोप था कि तीनों खिलाड़ियों ने सट्टेबाज़ों के साथ साँठगाँठ की और इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच के दौरान पहले से तय ओवर और गेंद पर 'नो बॉल' फेंकीं और फ़्किसिंग की.

सलमान बट्ट के मामले में कहा गया है कि पाँच साल की निलंबित सज़ा का मतलब है कि वो किसी और नियम का उल्लंघन नहीं करेंगे और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के भ्रष्टाचार निरोधक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

शुक्रवार को इंग्लैंड के अभियोजन पक्ष ने भी कहा था कि तीनों खिलाड़ियों और उनके एजेंट मज़हर मजीद पर भ्रष्ट तरीके से पैसे हासिल करने और धोखाधड़ी की साज़िश रचने का मुकदमा चलाया जाएगा.

पिछले अगस्त में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच में जानबूझकर नो बॉल डालने का आरोप लगने के बाद मोहम्मद आमिर, सलमान बट्ट और मोहम्मद आसिफ़ को निलंबित कर दिया गया था.वैसे ये खिलाड़ी तमाम आरोपों से इनकार करते रहे हैं.

संबंधित समाचार