'पकिस्तान क्रिकेट के लिए जीतेंगे कप'

 शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption शाहिद अफ़रीदी विश्व कप के पहले ही दोबारा कप्तान बने हैं

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान शाहिद अफ़रीदी ने अपने देश के लाखों क्रिकेट प्रेमियों के लिए विश्व कप जीतने कि मंशा ज़ाहिर की है.

पाकिस्तान को कीनिया के खिलाफ़ बुधवार को हम्बनटोटा में विश्व कप का पहला मैच खेलना है. उससे पहले पत्रकारों को संबोधित करते हुए शाहिद अफ़रीदी ने कहा कि पाकिस्तान के लाखों क्रिकेट प्रेमियों को अफ़सोस है कि क्रिकेट जगत का सबसे बड़ा आयोजन पाकिस्तान में नहीं हो पा रहा है.

शाहिद अफ़रीदी का कहना था, "मुझे लगता है कि हमारा देश और उसके लोगों को क्रिकेट विश्व कप की कमी बहुत खल रही है. हमारी टीम के लिए यही सबसे बड़ी बात है और हम इस कप को जीतने की पूरी कोशिश करेंगे. अगर ऐसा हो गया तो पाकिस्तान में जल्दी ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी."

दो साल पहले पाकिस्तान का दौरा कर रही श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर लाहौर में हुए चरमपंथी हमले के बाद से पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के आयोजन पर प्रतिबंध लगा हुआ है. लाहौर में टेस्ट मैच खेलने के लिए होटल से स्टेडियम जा रही श्रीलंका की टीम बस पर हुए हमले में आठ लोगों कि मौत हुई थी और टीम सदस्यों समेत कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे.

इस विश्व कप के आयोजन के लिए भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका के अलावा पाकिस्तान में भी मैचों का आयोजन तय हुआ था, लेकिन 2009 के हमले के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने सुरक्षा के मद्देनज़र इन मैचों को पाकिस्तान से हटाकर बाक़ी तीनों देशों में स्थानांतरित कर दिया.

पहला मैच अहम

शाहिद अफ़रीदी ने कीनिया की टीम से होने वाले पहले मैच के बारे में चल रही तैयारियों को लेकर कहा, "मुझे कीनिया और वहाँ के रहने वालों से बहुत प्यार है. पर मुझे नहीं लगता कि उनके ख़िलाफ़ खेलते वक़्त हम ज़रा सी भी कोताही बरतेंगे और पूरी ताक़त से उनके खिलाफ़ मैदान में उतरेंगे."

पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों पर लगे प्रतिबंधों के अलावा टीम के मनोबल और साख पर हाल ही में हुए स्पॉट-फिक्सिंग प्रकरण से भी बड़ा धब्बा लगा है.

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के तीन चोटी के खिलाड़ियों मोहम्मद आमिर, मोहम्मद आसिफ़ और सलमान बट्ट पर आईसीसी की कार्रवाई की प्रक्रिया जारी है और उन पर एक लंबे समय तक क्रिकेट न खेलने का प्रतिबंध भी लग चुका है.

टीम के मौजूदा कप्तान शाहिद अफ़रीदी का कहना था कि उन हालात में टीम के मनोबल को बनाए रखना बड़ी चुनौती रही. साल 2007 में वेस्ट इंडीज़ में खेले गए क्रिकेट विश्व कप में पाकिस्तान को पहले ही मैच में हार का सामना करना पड़ा था और टीम प्रतियोगिता के दूसरे दौर में जगह बनाने में विफल रही थी.

संबंधित समाचार