'मुरली के लिए विश्व कप जीतना चाहते हैं'

मुरलीधरन
Image caption श्रीलंकाई टीम मुरलीधरन के लिए विश्व कप जीतना चाहती है

भारतीय क्रिकेट टीम अगर विश्व कप सचिन तेंदुलकर के लिए जीतना चाहती है तो श्रीलंकाई टीम कप जीतकर मुथैया मुरलीधरन को समर्पित करना चाहती है.

श्रीलंकाई बल्लेबाज़ चमारा कपुगडेरा का कहना है कि उनकी टीम मुरलीधरन के लिए ये विश्व कप जीतना चाहती है क्योंकि टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके मुरली विश्व कप के बाद वनडे से भी संन्यास ले रहे हैं.

वैसे सचिन तेंदुलकर और मुरलीधरन के लिए विश्व कप जीतने की ख़्वाहिश रखने वाली टीमों में एक अंतर है और वो ये कि मुरली एक विश्व कप जीत चुके हैं जबकि सचिन के खाते में कोई विश्व कप नहीं है.

मुरलीधरन 1996 में अर्जुन रणतुंगा की कप्तानी वाली उस टीम के सदस्य थे जिसने ऑस्ट्रेलिया को हराकर विश्व कप जीता था.

वहीं सचिन तेंदुलकर उस टीम के सदस्य थे जो 2003 में विश्व कप के फ़ाइनल तक पहुँची थी मगर फिर ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी.

अंतिम विश्व कप

माना जा रहा है कि दोनों ही खिलाड़ियों का ये अंतिम विश्व कप होगा.

कपुगडेरा ने कहा कि श्रीलंका ने पहले मैच में जिस तरह कनाडा की टीम को बड़े अंतर से हराया है उसके बाद वे अगले मैच के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

श्रीलंका ग्रुप स्तर के छह में से पाँच मैच अपनी ही ज़मीन पर खेल रहा है और उसका अगला मैच पाकिस्तान से शनिवार को होना है.

दोनों ही टीमों के लिए ये पहला अहम मुक़ाबला होगा क्योंकि पाकिस्तान ने भी पहले मैच में कीनिया को आसानी से हरा दिया था.

कपुगडेरा के अनुसार टीम का हर सदस्य अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रहा है कि वे विश्व कप जीत सकें और मुरलीधरन के साथ ही देश को गर्वान्वित कर सकें.

टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट का रिकॉर्ड मुरलीधरन के ही पास है.

संबंधित समाचार