पड़ोसियों की जंग ऑस्ट्रेलिया के नाम

माइकल क्लार्क इमेज कॉपीरइट AP
Image caption माइकल क्लार्क ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया.

गेंदबाज़ों और सलामी बल्लेबाज़ों के शानदार खेल की बदौलत मौजूदा चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया ने न्यूज़ीलैंड को नागपुर में सात विकेट से हरा दिया.

सलामी बल्लेबाजों ब्रैड हैडिन और शेन वाटसन की सधी हुई बल्लेबाज़ी से ऑस्ट्रेलिया ने न्यूज़ीलैंड के 207 रनों के लक्ष्य को 34 ओवर समाप्त होते ही पूरा कर लिया.

शेन वाटसन ने 62 रनों की पारी खेली जबकि हैडिन मात्र 50 गेंदों में 55 रन बना कर आउट हुए.

न्यूज़ीलैंड के 206 रनों का पीछा करते हुए इन सलामी बल्लेबाज़ों ने 84 गेंदों में ही ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 100 तक पहुंचा दिया था.

इसके बाद कप्तान रिकी पॉन्टिंग तो सिर्फ 12 रन बना कर आउट हो गए लेकिन माइकल क्लार्क और क्रेग व्हाइट ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया.

न्यूजीलैंड के गेंदबाज़ भी नागपुर में हुए इस मैच में अपनी लय में नहीं दिखे और उन्होंने मिल कर 32 अतिरिक्त रन भी दिए.

गेंदबाजी का फ़ैसला सही रहा

नागपुर में हो रहे इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया. रात में बारिश होने की वजह से पॉन्टिंग ने ये फ़ैसला किया.

सधी हुई गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने न्यूज़ीलैंड को 206 रनों पर समेट दिया था.

पिछले दिनों न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में आए भूकंप में मारे गए 100 से अधिक लोगों की याद में दोनों देशों के खिलाड़ियों ने बाँह पर काले पट्टे बाँधे हुए थे.

ऑस्ट्रेलिया ज़िम्बाब्वे को हराने वाली टीम में कोई बदलाव नहीं करते हुए इस मैच में उतरा तो न्यूज़ीलैंड ने ऑल राउंडर जैकब ओरम की जगह जेमी हाउ को टीम में जगह दी.

विकेटकीपर बल्लेबाज़ ब्रैंडन मैक्कलम अभी रंग में आते दिख रहे थे कि इसी बीच शॉन टेट की गेंद पर उनका कैच थर्ड मैन पर जेसन क्रेज़ा ने पकड़ लिया. वह 16 रन बनाकर आउट हुए.

उसके बाद अभी टीम के स्कोर में 20 रन और जुड़े थे कि 10 रन बनाने वाले मार्टिन गप्टिल शेन वॉटसन की नीची रही गेंद पर बोल्ड हो गए.

इसके बाद जेसी राइडर और रॉस टेलर ने पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की मगर राइडर 25 रन बनाकर मिचल जॉनसन की गेंद पर आउट हो गए.

उनके बाद आए जेम्स फ़्रैंकलिन उसी ओवर में जॉनसन का शिकार बने और बिना खाता खोले ही पैवेलियन लौट गए.

स्कॉट स्टाइरिस का भी कुछ वही हाल रहा और अगले ओवर में वो भी बिना कोई रन बनाए पैवेलियन की ओर बढ़ गए. उनका विकेट शॉन टेट को मिला.

नैथन का अर्द्धशतक

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मिचल जॉनसन ने चार अहम विकेट लिए

सिर्फ़ 73 रनों पर छह विकेट गिरने के बाद न्यूज़ीलैंड की टीम संकट में थी मगर फिर जेमी हाउ और नैथन मैक्कलम ने कुछ देर पारी को सँभाला. दोनों ने मिलकर 48 रन जोड़े.

उस समय हाउ स्टीवन स्मिथ की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए. अब बारी मैक्कलम और कप्तान डैनियल विटोरी की थी.

उन दोनों ने पारी को सँभालने की कोशिश की और मैक्कलम ने अर्द्धशतक भी जमाया मगर 52 रनों के स्कोर पर मिचल जॉनसन ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट किया.

इसके बाद विटोरी 44 रनों के निजी स्कोर पर ब्रेट ली की गेंद पर आउट हुए.

न्यूज़ीलैंड के विकेट नियमित अंतराल पर गिरते रहे और कोई बड़ी साझेदारी नहीं हुई जिसकी वजह से पूरी पारी 46वें ओवर की पहली गेंद पर 206 रनों पर सिमट गई.

ऑस्ट्रेलिया की ओर से 13 वाइड और दो नो बॉल फेंकी गईं. मिचल जॉनसन ने चार और शॉन टेट ने तीन विकेट लिए जबकि ब्रेट ली, शेन वॉटसन और स्टीवन स्मिथ को एक-एक विकेट मिला.

ऑस्ट्रेलिया अगर ये मैच जीतता है तो ये विश्व कप में उसकी रिकॉर्ड लगातार 30वीं जीत होगी.

संबंधित समाचार