बाल बाल बचे वीरेंदर सहवाग

वीरेंदर सहवाग इमेज कॉपीरइट AFP

बंगलौर में चल रहे टीम अभ्यास के दौरान सलामी बल्लेबाज़ वीरेंदर सहवाग को पसली पर चोट लगी. लेकिन भारतीय टीम प्रबंधन के मुताबिक़ चिंता की बात नहीं और सहवाग इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच के लिए फ़िट हैं.

रविवार को इंग्लैंड की टीम के ख़िलाफ़ होने वाले अहम मैच से पहले भारतीय टीम इन दिनों बंगलौर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में अभ्यास कर रही है.

नेट्स में बल्लेबाजी का अभ्यास करते वक़्त एक स्थानीय गेंदबाज़ की गेंद सहवाग की पसली में आकर लगी और वे तुरंत अपना बल्ला फ़ेंक कर अपने घुटनों के बल बैठ गए.

भारतीय टीम के चिकित्सकों ने मैदान पर ही करीब 20 मिनट तक सहवाग का उपचार किया और फिर उन्हें साथ लेकर पवेलियन लौट गए.

बाद में भारतीय टीम मैनेजर रंजीब बिस्वाल ने एक बयान में बताया, "वीरेंदर सहवाग की पूरी तरह से डॉक्टरी जांच हो गई है और किसी भी स्कैन की ज़रुरत नहीं है. चिंता की कोई ख़ास बात नहीं है और वो खेलने के लिए फिट हैं."

वीरेंदर सहवाग पहले से ही अपनी चोट के कारण भारतीय टीम के लिए एक चिंता का विषय रहे हैं.

अपने घुटने में लगी चोट के कारण विश्व कप के पहले मैच में बांग्लादेश के खिलाफ़ उन्हें एक रनर लेकर बल्लेबाजी करनी पड़ी थी.

हालांकि उस मैच में सहवाग ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 140 गेंदों में 175 रन बनाए थे. इस पारी में पांच छक्के और 15 चौके शामिल थे.

चोट की चिंता

विश्व कप के पहले दौर के दौर में ही भारतीय टीम अपने नामचीन खिलाड़ियों के चोटिल होने के चलते थोड़ी असहज नज़र आ रही है.

सचिन तेंदुलकर को बांग्लादेश के विरुद्ध हुए पहले मैच के बाद मुंबई के लीलावती अस्पताल में जाकर अपने बाएं घुटने का एमआरआई करने की ज़रुरत पड़ गई थी.

हालांकि इसके नतीजे आने के बाद डॉक्टरों ने सचिन को पूरी तरह से फ़िट घोषित कर दिया.

गुरूवार को युवराज सिंह को अभ्यास के दौरान एस श्रीसंथ की एक गेंद हाथ में तेज़ी से लग गई थी, हालांकि बाद में उन्हें भी फ़िट घोषित कर दिया गया और युवराज ने अगले दिन जम कर नेट प्रैक्टिस भी की.

भारतीय उम्मीदों को विश्व कप शुरू होने से पहले भी एक बड़ा झटका लग चुका है क्योंकि गेंदबाज़ प्रवीण कुमार फ़िटनेस टेस्ट न पास कर पाने की वजह से टीम का हिस्सा नहीं बन सके और उनकी जगह श्रीसंत को मिली.

संबंधित समाचार