श्रीलंका के सामने पाकिस्तान की चुनौती

शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अफ़रीदी का कहना है कि उनकी टीम मुरलीधरन और मलिंगा के लिए तैयार है

पाकिस्तान को भरोसा है कि वह श्रीलंका को विश्व कप के मुक़ाबले में उसी की ज़मीन पर हरा सकता है.

शनिवार को कोलंबो में होने वाले इस मैच को लेकर पाकिस्तान का कहना है कि उसके पास इतने अनुभवी बल्लेबाज़ हैं जो श्रीलंका की गेंदबाज़ी का सामना कर सकें.

पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों को अनुभवी स्पिनर मुथैया मुरलीधरन और तेज़ गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा के आक्रमण का सामना करना होगा.

इस मैच के बारे में पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफ़रीदी का कहना है, "हम जानते हैं कि ये मैच कितना अहम है और चाहे वो मलिंगा हो या मुरलीधरन हम उस चुनौती का सामना कर सकते हैं."

अफ़रीदी मानते हैं कि घरेलू परिस्थितियों और पिच की मदद मुरलीधरन को मिलगी जिसकी वजह से वह काफ़ी ख़तरनाक साबित हो सकते हैं.

वहीं मलिंगा को लेकर उनका कहना था कि वह अच्छे गेंदबाज़ तो हैं मगर उनकी वापसी चोट के बाद हो रही है.

मलिंगा की संभावना

Image caption मलिंगा चोट के बाद टीम में वापसी कर सकते हैं

इधर श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा का कहना है कि मलिंगा के पाकिस्तान के विरुद्ध विश्व कप के मैच में उतरने की पूरी संभावना है.

मलिंगा ने नेट पर अभ्यास भी किया. कनाडा के विरुद्ध हुए पहले मैच में मलिंगा टीम में शामिल नहीं थे.

संगकारा ने कहा, "मुझे पूरा भरोसा है कि वह चयन के लिए तैयार हैं और अगर फ़िज़ियो उन्हें फ़िट क़रार देते हैं तो पाकिस्तान के विरुद्ध वह मैदान में होंगे."

मगर श्रीलंकाई यह नहीं चाहते कि मलिंगा के पूरी तरह फ़िट हुए बिना ही उन्हें मैदान में उतार दिया जाए.

श्रीलंका की टीम पाकिस्तान को एक ख़तरनाक प्रतिद्वन्द्वी के तौर पर देख रही है.

संगकारा ने कहा, "मेरे ख़्याल से पाकिस्तान एक ज़बरदस्त टीम है. उनके पास संतुलित टीम है और मैच जिताने वाले एक-दो नहीं बल्कि कई खिलाड़ी हैं."

पाकिस्तान और श्रीलंका विश्व कप में छह बार आमने-सामने हुए हैं और हर बार जीत पाकिस्तान की हुई है मगर विश्व कप में आख़िरी बार दोनों टीमें 1992 में भिड़ीं थीं.

संबंधित समाचार