विश्व कप में भारत की पहली हार

ज़ैक कैलिस इमेज कॉपीरइट Getty

नागपुर में खेले गए विश्व कप क्रिकेट के एक मैच में दक्षिण अफ़्रीका ने भारत को तीन विकेट से हरा दिया है. दक्षिण अफ़्रीका को जीत के लिए 297 रनों की आवश्यकता थी, जो उन्होंने दो गेंद रहते ही हासिल कर लिया.

इस विश्व कप में ये भारत की पहली हार है. मैच के अंतिम ओवर में दक्षिण अफ़्रीका को जीतने के 13 रनों की ज़रूरत थी.

भारत की ओर से आशीष नेहरा गेंदबाजी करने आये लेकिन दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ रोबिन पीटरसन ने दो गेंदों पर दस रन बनाकर मैच को एकतरफ़ा कर दिया.

भारत-दक्षिण अफ़्रीका के बीच हुए मैच में भारत ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया और टीम 296 रन बनाकर आउट हो गई.

दक्षिण अफ़्रीका के सामने 50 ओवरों में 297 रनों का लक्ष्य था.

दक्षिण अफ़्रीका के सलामी बल्लेबाजों हाशिम अमला और ग्रैम स्मिथ ने संभलकर पारी की शुरुआत की पर 43वें ओवर में ग्रैम स्मिथ 15 के निजी स्कोर पर आउट हो गए.

सचिन तेंदुलकर ने ज़हीर खान की गेंद पर स्मिथ का कैच लपका. स्मिथ के स्थान पर खेलने आये ज़ैक कैलिस ने अमला के साथ एक लंबी साझेदारी निभायी.

दोनों बल्लेबाज़ों ने अपने अर्धशतक पूरे किये और कैलिस 69 और अमला 61 रन बनाकर आउट हुए.

पर इनके बाद एबी डी वेलियर्स और ड्यूमिनी की जोड़ी ने बहुत तेज़ गति से रन बनाए और दक्षिण अफ़्रीका को लक्ष्य के बेहद क़रीब पहुंचा दिया.

डी वेलियर्स ने आउट होने से पहले 39 गेंदों में 52 रन बनाए और ड्यूमिनी ने 23 का निजी स्कोर बनाया.

इन दोनों बल्लेबाज़ों का विकेट ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने अपनी झोली में डाला.

भारतीय पारी

इससे पहले भारतीय पारी में सचिन, सहवाग और गंभीर के अलावा और कोई भी भारतीय बल्लेबाज़ क्रीज़ पर टिक कर खेल नहीं सका.

एक समय में भारत का स्कोर 267 रन एक विकेट के नुक़सान पर था. लेकिन ख़राब बल्लेबाज़ी के चलते भारतीय टीम कुल 296 रन पर ही सिमट गई.

दक्षिण अफ्रीका की ओर से डेल स्टेन ने 5 विकेट लेकर दक्षिण अफ़्रीका के लिए मैच में वापसी की.

इससे पहले भारतीय सलामी बल्लेबाज़ों वीरेंदर सहवाग और सचिन तेंदुलकर ने टीम को धमाकेदार शुरुआत दी.

दक्षिण अफ़्रीकी गेंदबाजों की लय बिगाड़ते हुए सचिन और सहवाग ने पहले 10 ओवरों में 87 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया.

18वें ओवर में भारतीय टीम का स्कोर 142 रन था जब वीरेंदर सहवाग 73 के निजी स्कोर पर आउट हुए.

सचिन तेंदुलकर ने बेहतरीन बल्लेबाज़ी का प्रदर्शन करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 99वां और एक दिवसीय मैचों में 48वां शतक पूरा किया.

सचिन 111 रन बनाकर मोर्केल की गेंद पर आउट हुए.40 ओवर समाप्त होने से पहले भारत का स्कोर 250 रन पार कर चुका था.

निचले क्रम ने निराश किया

लेकिन सचिन और गंभीर के कुछ ही ओवरों के अंतराल पर आउट हो जाने के बाद भारतीय बल्लेबाज़ी कुछ ख़ास प्रदर्शन नहीं दिखा सकी.

गौतम गंभीर ने तो 69 रनों की पारी खेली लेकिन यूसुफ़ पठान बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उनकी जगह पर खेलने आए युवराज सिंह भी एक छक्का जड़ने के बाद 12 रनों पर कैलिस की गेंद पर आउट हुए.

विराट कोहली का ख़राब फॉर्म जारी रहा और वे एक कन के निजी स्कोर पर आउट हुए.

38 से 43 ओवरों के बीच में भारतीय टीम महज़ 40 रन ही जोड़ सकी और उसके 4 विकेट गिर गए.

हरभजन सिंह मात्र तीन और ज़हीर खान बिना खाता खोले ही दक्षिण अफ़्रीकी गेंदबाजों के शिकार बने.

संबंधित समाचार