न्यूज़ीलैंड विश्व कप सेमी फ़ाइनल में

न्यूज़ीलैंड इमेज कॉपीरइट AP

ढाका में खेले गए विश्व कप के तीसरे क्वार्टर फ़ाइनल में न्यूज़ीलैंड की टीम ने मज़बूत कही जाने वाली दक्षिण अफ़्रीका की टीम को 49 रनों से हरा दिया है.

जीतने के लिए दक्षिण अफ़्रीका को 50 ओवरों में 222 रन बनाने थे लेकिन टीम 172 रनों पर ही सिमट गई.

इस जीत के साथ अब न्यूज़ीलैंड की सेमीफ़ाइनल में भिडंत इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगी.

दक्षिणी अफ्रीका की पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही. हाशिम अमला बहुत तेज़ गति से खेलते हुए सात के निजी स्कोर पर मैकुलम की गेंद पर वेटोरी को कैच थमा बैठे.

कप्तान ग्रैम स्मिथ ने इसके तुरंत बाद संभल कर खेलना शुरू कर दिया और विकेट पर उनका साथ दिया ज़ाक कैलिस ने.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस जोड़ी ने मिल कर दूसरे विकेट के लिए 50 रनों की साझेदारी निभायी. पर ग्रैम स्मिथ लंबी पारी खेलने में फिर नाकाम रहे और ओरम की गेंद पर 28 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए.

कैलिस दूसरी ओर क्रीज़ पर डटे थे और एबी डी वेलियर्स उनका साथ दे रहे थे. हालांकि न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों ने पारी की शुरुआत से ही दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ों को बाँध के रखा.

लेकिन 47 के स्कोर पर कैलिस और 35 के निजी स्कोर पर डी विलियर्स का आउट होना दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे बड़ा झटका रहा.

मैकुलम के एक ही ओवर में डी विलियर्स के बाद ड्यूमिनी भी आउट होकर पवेलियन लौट चले और दक्षिण अफ़्रीकी टीम इसके बाद मैच में वापसी नहीं कर सकी.

बोटा दो रन पर और पीटरसन बिना खाता खोले ही आउट हो गए और न्यूज़ीलैंड के गेंदबाजों ने मैच पर अपनी पकड़ निर्णायक कर ली. आख़िरकार दक्षिण अफ़्रीकी पारी मैच के 44वें ओवर में 172 रनों पर सिमट गयी.

न्यूज़ीलैंड की तरफ़ से ओरम चार विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज़ रहे जबकि मैकुलम के हाथ दक्षिण अफ़्रीका के तीन विकेट आए

न्यूज़ीलैंड की पारी

इससे पहले न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवर में आठ विकेट पर 221 रन बनाए.

न्यूज़ीलैंड टीम की पारी बेहद ख़राब ढंग से शुरू हुई और उनके सलामी बल्लेबाज़ सस्ते में ही आउट हो गए.

इमेज कॉपीरइट Getty

सलामी बलेबाज़ मार्टिन गुप्टिल ने तो 24 गेंदों का सामना किया और मात्र एक रन के निजी स्कोर पर उन्हें स्टेन ने पवेलियन का रास्ता दिखा दिया.

ब्रैंडन मैकुलम का हश्र भी कुछ ऐसा ही रहा और उन्हें रॉबिन पीटरसन ने चार रनों पर ही खुद कैच लेते हुए आउट किया.

इसके बाद क्रीज़ पर आए जेसी राइडर और टेलर ने धीमी ही सही लेकिन अच्छी बल्लेबाज़ी की और दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज़ों को लंबे समय तक सफल नहीं होने दिया.

पर दक्षिण अफ़्रीकी स्पिनर इमरान ताहिर ने इस विश्व कप में अपने चयन को शुक्रवार को भी सही ठहराया.

इमरान ताहिर ने विकेट पर जम चुके न्यूज़ीलैंड के इन दोनों बल्लेबाज़ों को आउट किया.

राइडर ने 83 और टेलर ने 43 रनों की बेहतरीन पारी खेलते हुए अपने टीम को सम्मानजनक स्थिति में पहुंचाया.

मध्यक्रम से निराशा

विकेट पर आए स्टाइरिस और ओरम ने बहुत धीमी रफ़्तार से खेलना तो शुरू किया लेकिन मोर्ने मॉर्केल ने इन दोनों बल्लेबाज़ों के विकेट भी थोड़े अंतराल पर ही ले लिए. स्टाइरिस ने 16 और ओरम ने सात रन बनाए.

न्यूज़ीलैंड के मध्यक्रम में सिर्फ़ विलियम्सन ही एक ऐसे बल्लेबाज़ रहे जिन्होंने सूझ-बूझ से बल्लेबाज़ी की.

हालांकि कप्तान डेनियल वेटोरी भी कुछ ख़ास न कर सके और अंतिम ओवर में छह रनों पर आउट हो गए, पर विलियम्सन ने नाबाद रहते हुए 38 रन बनाए.

दक्षिण अफ़्रीका की ओर से मॉर्केल तीन विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज़ रहे जबकि इमरान ताहिर और स्टेन को दो-दो विकेट मिले.

संबंधित समाचार