मैच ने क़रीब ला दिया है...

Image caption ‘बैटल फॉर मुंबई’ ने अमरीका में रहने वाले भारत-पाक के लोगों के बीच उत्साह पैदा कर दिया है.

पिछले दिनों मैंने अपने जन्मदिन पर कई दोस्तों को घर बुलाया. इनमें भारत, पाकिस्तान और अमरीका के मेरे दोस्त शामिल थे. चर्चा मेरे जन्म दिन की कम और क्रिकेट की ज़्यादा हुई.

यहाँ तक की बहस में थोड़ी गर्मी भी आ गई. मेरे भारतीय मित्र कहने लगे कि मोहाली के सेमी-फ़ाइनल मैच में भारत की जीत पक्की है. उनका तर्क था कि भारत ने पाकिस्तान को विश्व कप के सभी मैचों में मात दी है.

पाकिस्तानी मित्रों का तर्क था कि जीत उनकी टीम की होगी क्यूंकि अब तक विश्व कप में पाकिस्तान ने भारत से बढ़िया प्रदर्शन किया है और भारत पर होम टीम होने का दबाव होगा.

बाद में मेरे कुछ अमरीकी दोस्तों ने यह स्वीकार किया की क्रिकेट पर बहस से उन्हें महसूस हुआ है की भारत और पाकिस्तान में प्रतिद्वंद्विता कितनी गहरी है.

इन दिनों क्रिकेट का बुखार जितना भारत और पाकिस्तान में है, अमरीका में उससे कम नहीं है. यहाँ स्थानीय समयानुसार सुबह पांच बचे मैच शुरू होगा.

लेकिन अमरीका में रहने वाले भारत और पाकिस्तान के लोग सुबह उठ कर मैच देखने की योजना बना चुके हैं.

बोकारो से आए एक विद्यार्थी भास्कर अधिकारी ने छुट्टी ले ली है. मंजीत पाहवा एक अनुसंधानकर्ता हैं और उन्होंने अपने घर पर कई लोगों को मैच देखने का न्योता दे रखा है.

अधिकतर लोग अपने दोस्तों के साथ मैच देखने की योजना बना रहे हैं. दूर रहने वाले अपने दोस्तों के घर रात में ही पहुँच रहे हैं ताकि सुबह 5 बजे उन्हें सफ़र न करना पड़े. अमरीका में क्रिकेट पर उत्साह साफ़ महसूस किया जा सकता है.

क्रिकेट का क्रेज़ सरकारी अधिकारियों को भी है. पाकिस्तान के राजदूत हुसैन हक्कानी ने पाकिस्तानी दूतावास में मैच देखने के लिए साढ़े चार बजे का न्योता दिया है.

आमतौर से पाकिस्तानी और भारतीय दूतावास एक-दूसरे के देश के पत्रकारों को प्रेस कॉफ्रेंस के लिए नहीं बुलाते हैं लेकिन एक भारतीय पत्रकार ने मुझे बताया कि पाकिस्तान के राजदूत ने भारतीयों को भी मैच देखने की दावत दी है.

उन्होंने बताया कि वो मैच पाकिस्तानी दूतावास में देखेंगी. शायद मैच से अधिक दिलचस्पी उन्हें राजदूत से मिलने में हो.

अमरीका में क्रिकेट लोकप्रिय नहीं है, लेकिन इस बार यहां शराब ख़ानों और रेस्त्रां में मैच लाइव दिखाया जा रहा है.

वूडलैंड्स नामक एक भारतीय रेस्त्रां ने इस मैच को लाइव दिखाने का इंतज़ाम किया है और मुफ़्त चाय क़ाफी पिलाने का वादा किया है.

भारत और पाकिस्तान से आकर अमरीका में बसे अधिकतर लोग खुशहाल हैं. ये आपस में दोस्त भी हैं. मैं खुद एक भारतीय दोस्त के घर मैच देखने जा रहा हूँ जहां भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के लोगों को मैच देखने का निमंत्रण है.

एक पाकिस्तानी मित्र ने कहा 'बड़ा मज़ा आएगा. मैं पहली बार किसी भारतीय के साथ बैठकर मैच देखूंगी'. उन्होंने कहा कि उन्हें यकीन है कि जीत किसी भी टीम की हो दोनों पक्षों में तनाव नहीं होगा.

कुलमिलाकर ‘बैटल फॉर मुंबई’ ने अमरीका में रहने वाले भारतीयों और पाकिस्तानियों के बीच उत्साह ज़रूर पैदा कर दिया है लेकिन शायद दोनों को एक दूसरे के क़रीब भी लाकर खड़ा कर दिया है.

संबंधित समाचार