श्रीलंका विश्व कप के फ़ाइनल में

तिलकरत्ने दिलशान इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दिलशान ने अर्द्धशतक जड़ा और टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हो गए

विश्व कप क्रिकेट के पहले सेमीफ़ाइनल में श्रीलंका ने न्यूज़ीलैंड को आसानी से पाँच विकेट से हरा दिया है. इसके साथ ही श्रीलंका लगातार दूसरी बार फ़ाइनल में पहुँचा है.

न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 217 रन बनाए थे जिसके जवाब में श्रीलंका ने 13 गेंदें बाक़ी रहते जीत हासिल कर ली.

दिलशान ने 73 रन बनाए और वह टिम साउदी की गेंद पर जेसी राइडर के हाथों लपके गए. इस स्कोर तक पहुँचने के साथ ही दिलशान इस विश्व कप में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हो गए.

उनके और कप्तान कुमार संगकारा के बीच 120 रनों की साझेदारी हुई. दिलशान के बाद क्रीज़ पर आए महेला जयवर्द्धने ने अभी एक ही रन बनाया था कि न्यूज़ीलैंड के कप्तान डेनियल विटोरी की एक गेंद विकेट के सामने उनके पैरों पर जा लगी और वो एलबीडब्ल्यू हो गए.

इससे पहले दिलशान ने सलामी बल्लेबाज़ उपुल तरंगा के साथ मिलकर टीम को तेज़ शुरुआत दी थी और रन गति को बढ़ाने की कोशिश में तरंगा को भी साउदी की गेंद पर राइडर ने ही लपका था.

उस समय टीम का स्कोर 40 रन था और तरंगा ने 30 रन बनाए थे.

कप्तान कुमार संगकारा ने भी अर्द्धशतक जड़ा और वह 54 रन बनाकर एंडी मैके के हाथों कैच आउट हुए. एक समय श्रीलंका ने 185 रनों के स्कोर पर पाँच विकेट गिर गए थे और लगा था कि मैच रोमाँचक हो सकता है मगर उसके बाद एंजेलो मैथ्यूज़ और तिलन समरवीरा ने टीम को जीत तक पहुँचा दिया.

न्यूज़ीलैंड की पारी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रॉस टेलर और स्कॉट स्टाइरिस ने न्यूज़ीलैंड को सम्मानजनक स्कोर की ओर बढ़ाया

इससे पहले न्यूज़ीलैंड की पूरी टीम 48 ओवर पाँच गेंद खेलकर आउट हो गई. न्यूज़ीलैंड को श्रीलंकाई स्पिन गेंदबाज़ों ने रोके रखा जिसकी वजह से वे बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सके.

सबसे सफल बल्लेबाज़ स्कॉट स्टाइरिस रहे जिन्होंने अर्द्धशतक जड़ा. वह 57 रन बनाकर मुथैया मुरलीधरन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए.

रंगना हेरात ने श्रीलंका को पहली सफलता दिलाई जब उन्होंने ब्रैंडन मैक्कलम को बोल्ड कर दिया. उस समय मैक्कलम ने 13 रन बनाए थे.

उसके बाद न्यूज़ीलैंड के दूसरे सलामी बल्लेबाज़ मार्टिन गप्टिल का साथ जेसी राइडर ने दिया मगर वे दोनों खिलाड़ी अभी 37 रन जोड़ पाए थे कि मुरलीधरन ने राइडर को संगकारा के हाथों कैच करा दिया.

मुरलीधरन का अंतिम मैच

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मुरलीधरन का श्रीलंका की ज़मीन पर ये अंतिम वनडे मैच है

लसित मलिंगा ने गप्टिल को एक बेहतरीन यॉर्कर गेंद से बोल्ड कर दिया. वह 39 रन बनाकर आउट हुए.

इसके बाद रॉस टेलर और स्कॉट स्टाइरिस क्रीज़ पर कुछ देर टिके और उन्होंने चौथे विकेट के लिए 77 रन जोड़े. मगर टेलर रन गति को बढ़ाने की कोशिश में मेंडिस की गेंद पर उपुल तरंगा को कैच थमा बैठे. टेलर ने 36 रन बनाए.

केन विलियमसन ने बाद में तेज़ी से 22 रन जोड़े मगर वो भी टीम को किसी बड़े स्कोर तक नहीं पहुँचा सका.

मुथैया मुरलीधरन का श्रीलंका की धरती पर ये अंतिम वनडे था क्योंकि अगर टीम सेमीफ़ाइनल जीतती भी है तो फ़ाइनल मुंबई में खेला जाना है. मुरलीधरन ने 10 ओवर फेंके जिनमें एक ओवर मेडन रहा और उन्होंने 42 रन देकर दो विकेट झटके.

मलिंगा और मेंडिस ने तीन-तीन जबकि हेरात और दिलशान ने एक-एक विकेट लिए.

संबंधित समाचार