'भारतीयों का दिल हमारे जितना बड़ा नहीं'

शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अफ़रीदी ने भारतीय मीडिया के रवैया को नकारात्मक कहा है.

मोहाली में क्रिकेट विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में भारत से हार के बाद अपने बयान से कई भारतीय प्रशंसकों का दिल जीतने वाले पाकिस्तानी टीम के कप्तान शाहिद अफ़रीदी अब बदले-बदले से नज़र आ रहे हैं.

रविवार को अफ़रीदी ने एक पाकिस्तानी टीवी चैनल से कहा कि भारतीय मीडिया का रवैया काफ़ी नकारात्मक है और पाकिस्तानी मीडिया भारतीय मीडिया से सौ गुना बेहतर है.

शाहिद अफ़रीदी ने पाकिस्तानी टीवी चैनल 'समा' से कहा, "मेरे ख़्याल में अगर सच्ची बात करुं तो जो मुसलमान का दिल है, जो पाकिस्तानी का दिल है, वो उनका हो ही नहीं सकता.जितना साफ़-सुथरा दिल अल्लाह ने हमें दिया है, वो उनके पास नहीं है."

अफ़रीदी ने आगे कहा कि भारतीयों के साथ दीर्घकालीन रिश्ते बनाना बड़ा ही मुश्किल काम है.

'भारतीय मीडिया नकारात्मक'

भारतीय मीडिया के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उनका कहना था, "मेरे ख़्याल में भारतीय मीडिया की सोच बहुत ही नकारात्मक किस्म की है. उनके अवाम की सोच तो उतनी नकारात्मक नहीं होगी लेकिन मेरे ख़्याल में हमारे और भारत के ताल्लुकात ख़राब कराने में भारतीय मीडिया का भी बड़ा गंदा किस्म का रोल है. और मेरे ख़्याल से हमारा मीडिया जिसे लोग भला-बुरा कहते है वो उनसे सौ गुना बेहतर है."

गौरतलब है कि मोहाली में हारने के बाद शाहिद अफ़रीदी ने भारत को मुबारकबाद दी थी और पाकिस्तानी अवाम से हार के लिए माफ़ी मांगी थी.

तब कहा जा रहा था कि पाकिस्तान भले ही मैच हार गया हो लेकिन उनके कप्तान शाहिद अफ़रीदी ने क्रिकेट प्रेमियों के दिल जीत लिए हैं.

लेकिन पाकिस्तान पहुंचकर अफ़रीदी कुछ बदले से नज़र आ रहे हैं.

संबंधित समाचार