मलिंगा का टेस्ट क्रिकेट से संन्यास

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption लसिथ मलिंगा

अपने ग़ैर परंपरागत गेंदबाज़ी ऐक्शन और पैरों को निशाना बनाने वाले यॉर्कर्स के लिए मशहूर श्रीलंका के लसिथ मलिंगा ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया है.

उन्होंने यह क़दम अपने वन डे करियर को और लंबा करने के लिए उठाया है.

27 वर्षीय मलिंगा ने कहा कि वे एक दिवसीय क्रिकेट और ट्वेन्टी-20 क्रिकेट के लिए अब भी उपलब्ध रहेंगे. टेस्ट क्रिकेट खेलकर वह अपने दाहिने घुटने को हमेशा के लिए चोटिल नहीं करना चाहते.

मलिंगा ने एक वकतव्य जारी कर कहा- हालांकि मैं एक दिवसीय और ट्वेन्टी-20 क्रिकेट खेलने के लिए अब भी फ़िट हूँ लेकिन मेरे दाहिने घुटने की हालत दिनों-दिन ख़राब होती जा रही है, इसलिए उसका ध्यान रखना ज़रूरी है. मैने अपने विकल्पों के बारे में बहुत ध्यान से सोचा है और मैं इस नतीजे पर पहुँचा हूँ कि टेस्ट क्रिकेट न खेलकर मैं 2012 का ट्वेन्टी-20 विश्व कप और 2015 का विश्व कप खेलने के अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकूँगा.

बहस

श्रीलंका बोर्ड ने कहा है कि उसे मलिंगा के इस फ़ैसले की जानकारी नहीं है. मलिंगा ने हाल में यह कहते हुए इंग्लैंड के ख़िलाफ़ तीन टेस्टों की सिरीज़ में खेलने से इनकार कर दिया था कि वह फ़िट नहीं हैं. लेकिन वह इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस की तरफ़ से खेलते रहे थे.

इनके इस क़दम से देश बड़ा या क्लब की बहस शुरू हुई थी और श्रीलंका के मुख्य चयनकर्ता दलीप मेंडिस को कहना पड़ा था कि यह बड़ी विचित्र स्थिति है. अगर वह वाकई घायल हैं तो उन्हें श्रीलंका आकर अपना इलाज कराना चाहिए न कि आईपीएल में खेलना चाहिए.

2004 में अपना टेस्ट करियर शुरू करने वाले मलिंगा ने 30 टेस्टों में 33.15 की औसत से 101 विकेट लिए हैं.

निर्धारित ओवरों की क्रिकेट में उनका प्रदर्शन कहीं बेहतर रहा है और श्रीलंका को इस विश्व कप के फ़ाइनल में पहुँचाने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

संबंधित समाचार