आईपीएल पर भिड़े श्रीलंका के मंत्री

कुमार संगाकारा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अब श्रीलंका के खिलाड़ी 19 मई तक आईपीएल खेलेंगे

श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री उन दावों का खंडन किया है जिनमें उनपर इंडियन प्रीमियर लीग के साथ अपने देश के खिलाड़ियों को खिलाने के लिए दस साल का समझौता करने की बात कही गई थी.

जैमिनी लोकुगे ने ऐसे दावे करने के लिए वर्तमान खेलमंत्री महिंदानंदा अलुथगामागे की आलोचना की है.

गत सप्ताह मौजूदा खेल मंत्री ने आईपीएल में हिस्सा ले रहे सभी श्रीलंकाई क्रिकेटरों को इंग्लैंड के दौरे की तैयारी करने के लिए पांच मई तक देश लौटने के आदेश दिए थे.

लेकिन बाद में वे अपने आदेश से ये कहते हुए पलट गए थे कि पिछले खेल मंत्री यानि जैमिनी लोकुगे ने आईपीएल का साथ समझौता किया है.

'किसी समझौते पर हस्ताक्षर नहीं'

खेलमंत्री अलुथगमागे ने बीबीसी को बताया, “भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने हमें सूचना दी है कि उन्होंने पूर्व खेलमंत्री लोकुगे के साथ समझौता किया है जिसके आधार पर श्रीलंका के खिलाड़ी आईपीएल में हिस्सा लेते हैं. ”

अलुथगमागे ने आगे कहा कि इसी समझौते और दोनो क्रिकेट बोर्डों के बीच रिश्तों की वजह से खिलाड़ियों को 19 मई तक आईपीएल में खेलने देने का फ़ैसला किया गया है.

लेकिन जनवरी 2007 से अप्रैल 2010 तक खेल मंत्री रहे जैमिनी लोकुगे ने वर्तमान खेलमंत्री के दावों का खंडन किया है.

लोकुगे ने बीबीसी की सिंहला सेवा को बताया, “ऐसे किसी समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए गए हैं. ”

श्रीलंका के लिए आईपीएल और राष्ट्रीय टीम के प्राथमिकता की बहस साल 2008 में भी हुई थी जब इंगलैंड का दौरा और आईपीएल एक ही समय पर खेले जाने थे. खिलाड़ियों के विरोध के बाद इंग्लैंड का दौरा रद्द करना पड़ा था और खिलाड़ी आईपीएल में खेले थे.