शर्मा चमके, भारत जीता

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

रोहित शर्मा के शानदार 68 और शिखर धवन के 51 रनों की बदौलत भारत ने वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ पोर्ट ऑफ़ स्पेन में खेला गया पहला एक दिवसीय मैच चार विकेट से जीत लिया है.

कप्तान सुरेश रैना ने भी 50 गेंदों में 43 रनों की अच्छी पारी खेली और उन्होंने दो विकेट भी लिए.

इस जीत के साथ भारत ने पांच एक दिवसीय मैचों की श्रृंखला में एक शून्य की बढ़त ले ली है.

क्वींस पार्क ओवल में खेले गए इस मैच के स्टार बने रोहित शर्मा जिन्हें मैन ऑफ़ दी मैच का भी पुरस्कार मिला.

उनकी शुरूआत काफ़ी हद तक ट्वेंटी-ट्वेंटी के शॉट लगाने की कोशिशों के साथ शुरू हुई और कई बार वो बाल-बाल बचे.

कमेंटरी कर रहे सुनील गावस्कर का कहना था कि जब तक शर्मा इस मैच में थम कर ठहर कर धीरज के साथ नहीं खेलेंगे वो आगे नहीं बढ़ सकते.

और लगा कि शर्मा ने शायद गावस्कार की सुनी और धीरे-धीरे उनकी पारी निखरती गई और वो खुलकर खेलने लगे.

कुल 75 गेंदों में बने उनके 68 रनों में 13 चौके और तीन छक्के थे. ये उनके एक दिवसीय करियर का छठा अर्धशतक है.

जीत के बाद उनका कहना था, "एक अच्छी शुरूआत से मैं काफ़ी खुश हूं और आगे भी और ज़्यादा रन बनाने के लिए भूखा हूं."

उनका कहना था कि ट्वेंटी-20 से एक दिवसीय मैच में आने में उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई.

पहले ओवरों में वो इसलिए वो संभलकर खेल रहे थे क्योंकि इस पिच पर शॉट्स खेलना आसान नहीं था.

कप्तान रैना का कहना था कि गेंदबाज़ो ने काफ़ी अच्छा खेल दिखाया.

उनका कहना था, "विकेट बल्लेबाज़ी के लिए बहुत अच्छी नहीं थी लेकिन रोहित और धवन ने शानदार बैटिंग की."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption विराट कोहली को सस्ते में निपटाने के बाद जश्न मनाते रामपॉल.

इसके पहले धवन ने 73 गेंदों में अपने एक दिवसीय करियर का पहला अर्धशतक लगाया लेकिन उसके तुरंत बाद मार्टिन की गेंद पर डीप मिड-विकेट पर लपक लिए गए.

उनकी पारी में एक छक्का और तीन चौके थे.

भारत की ओर से पहला विकेट पार्थिव पटेल का गिरा जब वो एक मुश्किल सिंगल लेने के चक्कर में रन आउट हो गए.

विराट कोहली एक वाइड गेंद पर बल्ला चलाने के प्रयास में लपक लिए गए.

वहीं बद्रीनाथ 30 गेंदों में 17 रन बनाकर बिशू की गेंद पर कैच थमा बैठे.

लचर बल्लेबाज़ी

इसके पहले वेस्ट इंडीज़ की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया लेकिन पचास ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर मात्र 214 रन बना सके.

कप्तान डैरन सैमी ने मैच के बात कहा कि उनकी हार की मुख्य वजह रही कि वो जितने चाहिए उतने रन नहीं बना सके.

वेस्ट इंडीज़ की शुरूआत अच्छी नहीं रही और उनके तीन विकेट मात्र 59 रनों पर चटक गए थे.

रामनरेश सरवन और मार्लन सैमुएल के अर्धशतकों ने स्कोर को एक सम्मानजनक स्थिति में पहुंचाया.

लेकिन ये दोनों बल्लेबाज़ रनों की गति तेज़ करने के प्रयास में आउट हो गए.

ब्रावो ने 20 गेंदों में 22 रनों का योगदान दिया वहीं एडवर्ड्स ने 45 गेंदों में 21 रन बनाए.

भारत की ओर से हरभजन सिंह तीन विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज़ रहे वहीं प्रवीण कुमार, मुनाफ़ पटेल और सुरेश रैना ने दो-दो विकेट लिए.

संबंधित समाचार